Sun Transit in Capricorn 2017/Sun Transit in Makar Rashi 2017

सूर्य का मकर राशि में गोचर 2017/ सूर्य मकर में 2017

14 जनवरी 2017 को प्रातः करीब 7:51 मिनट पर सूर्य धनु राशि से अपने पुत्र परन्तु शत्रुवत सम्बन्ध वाली राशि मकर में प्रवेश करेगा. मकर चर स्वभाव  और पृथ्वी तत्व की राशि है . सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने को ही ‘मकर संक्रांति’ कहते हैं

सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने पर क्या होगा आप पर प्रभाव आइये देखते हैं –

मेष राशि : लग्न में सूर्य पंचमेश होने के कारण शुभ फलदायी है.  यश ओर मान सम्मान कि वृद्धि होगी.  राजनीती में हैं तो पद प्रतिष्ठा बढेगी.  नया घर या वाहन का योग बनेगा.   विद्यार्थियों के लिए शुभ फलदायी .  आय के लिए परिश्रम अधिक करना पड़ेगा.  धार्मिक कार्यों में रूचि बढेगी.  संतान से सुख.

वृषभ राशिसुखेश होने के कारण सूर्य राजयोग कारक है.  पिता कि प्रतिष्ठा एवं स्वास्थ्य को खतरा.  पिता से वैचारिक मतभेद संभव.  पराक्रम बड़ा रहेगा.  कार्यक्षमता अद्भुद रहेगी.  शत्रु सामना नहीं कर पायेंगी परन्तु षड्यंत्रकारियों से सावधान.

मिथुन राशि : तृतीयेश – लग्नेश का मित्र होने के कारण सूर्य यहाँ न्यूनतम पापी है.  पराक्रम भंग योग बनेगा.  भौतिक सुखों कि प्राप्ति के लिए संघर्ष अधिक करना पड़ेगा.  भाइयों एवं मित्रों से विवाद संभव. पालतू जानवरों से सावधानी बरतें.  गुप्त प्रेम संबंधों से हानि या विवाद.  वाहन चलने में सावधानी बरतें.  कोर्ट कचहरी में धन हानि.

कर्क राशि:  आर्थिक स्तिथि मज़बूत होगी. धन एवं पारिवारिक सुख में वृद्धि. पिता से संपत्ति या लाभ कि संभावनाएं. साझेदारी में कार्य लाभकारी.प्रभावशाली व्यक्तित्व से धन  एवं प्रतिष्ठा में वृद्धि के योग. वैवाहिक जीवन में तनाव एवं जीवन साथी से मतभेद.

सिंह राशि : सूर्य मकर यानी अपनी शत्रु राशि में होगा. लग्न भंग योग बनेगा.  किसी भी कार्य में सफलता शीघ्र नहीं मिलेगी. हत्वाकांक्षा एवं अभिमान में वृद्धि. व्यर्थ की यात्रायों में समय नष्ट. गुप्त शत्रुओं से सावधान. स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें.

कन्या राशि  : विद्या प्राप्ति में अवरोध का सामना करना पड़ेगा. ह्रदय रोगियों के लिए सावधानी भरा समय. गर्भवती स्त्रियाँ सावधानी बरतें. लाभ में कमी.

तुला राशि : भौतिक सुखों में कमी ओर उनकी प्राप्ति हेतु काफी संघर्ष करना पड़ेगा. माता के सुख में कमी. भूमि सम्बन्धी विवाद कार्य व्यापार सामान्य. उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए सावधानी भरा समय.

वृश्चिक राशि: पराक्रम एवं तेजस्विता में वृद्धि. नौकरी या रोज़गार के अवसर मिलेंगे. बड़े भाई से मतभेद ओर मित्रों से मनमुटाव. भाग्य का साथ रहेगा. मिला जुला समय.

धनु राशिलग्नेश बृहस्पति का मित्र होने के कारण शुभ फलदायी है. धन कि प्राप्ति. पारिवारिक सुख में वृद्धि. भाग्य का साथ बुद्धि बल से उन्नति शत्रुओं नका नाश करने में सफल.

मकर राशि  स्वास्थ्य में कमी फिर भी तेजस्वी रहेंगे. स्पष्ट एवं सत्य वक्ता एवं न्याय प्रिय कहलायेंगे. पिता से वैचारिक मतभेद. गुप्त शत्रुओं से सावधान. जीवनसाथी से थोडा मनमुटाव परन्तु सुखी गृहस्थ जीवन .

कुम्भ राशि: विलम्ब विवाह योग बनेगा अर्थात विवाह योग्य जातकों को प्रतीक्षा करनी पड़ेगी. गृहस्थ जीवन में विवाद. पिता से सुख का अभाव. आर्थिक लाभ मेंकमी, ऋण लेने कि स्तिथि भी बन सकती है. जीवन साथी को नेत्र विकार कि संभावना.

मीन राशि : विरोधी मानसिक एवं शारीरिक पीड़ा पहुंचा सकते हैं. व्यापार एवं आमदनी में कठिनाई के योग परन्तु बुद्धिबल से सफलता प्राप्त करेंगे. शिक्षा क्षेत्र में पूर्ण सफलता. इमानदारी एवं सिद्धांतों के कारण उन्नत्ति में रुकावट.

सूर्य  के उपचार :

  • सोने या ताम्बे के श्री यंत्र के पूजा करें
  • आँगन में या घर के मध्य में पीली रौशनी जलाएं
  • जितना हो सके सफ़ेद कपडे ही पहने
  • लाल मुंह के बंदरों को गुड़ खिलाएं
  • गेंहू , गुड़ , तांबा , लाल वस्त्र और लाल फल , शहद इत्यादि का दान करें .
  • आदित्य हृदय स्तोत्र पढ़ें
  • ॐ घ्रिणी सूर्याय नमः का जप करें
  • आँखों की पीड़ा हो तो चाक्षुषोपनिषद का पाठ करें
  • मकर लग्न के जातक यदि सूर्य की दशा हो तो ‘महामृत्युंजय मन्त्र‘ का जप करें

शुभम भवतु 

ज्योतिर्विद पं. दीपक दूबे  <View Profile>