" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे

जया एकादशी / Jaya Ekadashi / Jaya Ekadashi Vrat

27  जनवरी (शनिवार) 2018

shattila ekadashi

जया एकादशी का पौराणिक महत्व 

माघ शुक्ल एकादशी का नाम ‘जया एकादशी’ है। इसका व्रत करने से मनुष्य ब्रह्म हत्यादि पापों से छूट कर मोक्ष को प्राप्त होता है तथा इसके प्रभाव से भूत, पिशाच आदि योनियों से मुक्त हो जाता है। इस व्रत को विधिपूर्वक करना चाहिए। इस दिन दीप नैवैद्य से भगवान् विष्णु की पूजा की जाति है.

सागार : इस दिन गूंद्गिरी के सांठे का सागार लिया जाता है.

फल : इस जया एकादशी के व्रत से बुरी योनि छूट जाती है। जय एकादशी का व्रतकरने से सभी प्रकार के  यज्ञ, जप, दान आदि का पुणे प्राप्त होता है.  जो मनुष्य जया एकादशी का व्रत करते हैं वे अवश्य ही हजार वर्ष तक स्वर्ग में वास करते हैं।

Jaya Ekadashi Katha/जया एकादशी कथा 

  < षट्तिला एकादशी                                            एकादशी 2017                                         विजया एकादशी >
Shattila Ekadashi                                      Ekadashi 2017                                  Vijaya Ekadashi

Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web