" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
Pt Deepak Dubey

Maas Shivratri Vrat Tithi 2017

मास शिवरात्रि व्रत तिथि 2017

मास शिवरात्रि व्रत तिथि 2016 जानने के लिए क्लिक करें 

rudrabhishek

शिवरात्रि व्रत प्रत्येक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को रखा जाता है.  धार्मिक मान्यताओं के अनुसार चतुर्थी तिथि के स्वामी भगवान् शिव  हैं. इसी के साथ पौराणिक मान्यताओं  के अनुसार  दिव्य ज्योर्तिलिंग का उदभव भी चतुर्दशी तिथि को ही माना गया है. मासिक शिवरात्रि व्रत में भगवान शंकर की पूजा उनके परिवार के सदस्यों सहित की जाती है. भगवान् शंकर  के भक्त इस दिन उनको प्रसन्न करने के लिए निराहार व्रत का पालन करते हैं.

इस दिन किया गए  रुद्राभिषेक का विशेष महत्व है और भगवान् शिव भी रुद्राभिषेक से अत्यंत प्रसन्न होते हैं. शिवलिंग के अभिषेक में जल, दूध, दही, शुद्ध घी, शहद, शक्कर या चीनी,गंगाजल तथा गन्ने के रस इत्यादि का उपयोग किया जाता है. अभिषेक पश्चात बेलपत्र, समीपत्र, कुशा तथा दूब इत्यादि अर्पण किया जाता है. भगवान् शिव की प्रिय वस्तुएं भांग, धतूरा तथा श्रीफल  उन्हें अवश्य अर्पण की जाति हैं.

उपवास की पूजन सामग्री में पंचामृत, फूल, वस्त्र, बिल्व पत्र, धूप, दीप, नैवेद्य, चंदन इत्यादि का उपयोग होता है. इस व्रत में चारों पहर में पूजन किया जाता है, चारों पहर में किये जाने वाले इन मंत्र जापों से विशेष पुण्य प्राप्त होता है.

व्रत का फल : विधिपूर्वक व्रत रखने पर तथा शिवपूजन, शिव कथा, शिव स्तोत्रों का पाठ “उँ नम: शिवाय” का पाठ करते हुए रात्रि जागरण करने से अश्वमेघ यज्ञ के समान फल प्राप्त होता हैं.

          मास शिवरात्रि तिथियाँ 2017

तिथि दिन शिवरात्रि
26 जनवरी बृहस्पतिवार मास शिवरात्रि
24 फ़रवरी शुक्रवार  मास शिवरात्रि
26  मार्च रविवार  महा शिवरात्रि
24 अप्रैल सोमवार मास शिवरात्रि
24  मई  बुधवार मास शिवरात्रि
22  जून  बृहस्पतिवार मास शिवरात्रि
21  जुलाई  शुक्रवार मास शिवरात्रि
20 अगस्त  बुधवार मास शिवरात्रि
18  सितम्बर  सोमवार मास शिवरात्रि
18  अक्टूबर  बुधवार मास शिवरात्रि
16  नवम्बर बृहस्पतिवार मास शिवरात्रि
16  दिसम्बर  शनिवार मास शिवरात्रि

रुद्राभिषेक महूर्त 2016 जानने के लिए क्लिक करें 

 

 


Puja of this Month
New Arrivals
Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web