" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
Pt Deepak Dubey

शीघ्र विवाह के अचूक उपाय                  

 विवाह में आने वाली परेशानियों के अनेक कारण हैं, जैसे कि – मांगलिक दोष, शुक्र वृहस्पति आदि ग्रहों की खराब स्थिति अदि समस्याएँ प्रमुख हैं | ज्योतिष और धार्मिक उपायों से विवाह कार्य में आ रही मुश्किलों से छुटकारा पाया जा सकता है.

  • पूर्णिमा के दिन वट वृक्ष की 108 बार परिक्रमा करने से अविवाहित जातक का विवाह शीघ्र अतिशीघ्र होता है | यह शीघ्र विवाह का एक अच्छा उपाय है |
  • गणेशजी की आराधना करें तथा इन्हें पीले लड्डुओं का भोग लगावें | ऐसा करने से अविवाहित पुरुषों की शादी में आ रही समस्या दूर हो जाती है | जबकि कन्याएँ गणेशजी को मालपुए का भोग लगावें |
  • सोमवार के दिन सामर्थ्य अनुसार कच्चा दूध और चने की दल दान करने से जातक का विवाह जल्दी होता है | दान तब तक करें जब तक की जातक का विवाह न हो जाय |
  • भगवान शिव तथा माता पार्वती जी का पूजन करे तथा शिवलिंग का कच्चे दूध से अभिषेक करें तथा बेलपत्र, अक्षत, कुमकुम इत्यादि से विधिवत पूजा करने से शीघ्र विवाह की मनोकामना पूरी होती है |
  • शुक्रवार के दिन सूर्यास्त से पूर्व इश्वर से शीघ्र विवाह होने की प्रार्थना करें, भोजन ग्रहण करें | ऐसा करने से जातक की मनोकामना शीघ्र पूरी होती है |
  • गुरुवार को केले के वृक्ष के पास शुद्ध घी का दिया जलवें और (गुरु) वृहस्पति के 108 नामों का उच्चारण करें तो जातक का शीघ्र विवाह होता है |
  • वृहस्पतिवार के दिन शाम को पाँच प्रकार की मिठाई, हरी इलायची का जोड़ा, पीले रंग का वस्त्र, पीला फूल, पीला फल, शुद्ध घी का दिया और जल अर्पित करें | इस प्रकार तीन गुरूवार को ऐसा करने से शीघ्र विवाह के संयोग बनते है |
  • अविवाहित जातक प्रतिदिन ‘दुर्गा सप्तशती’ से ‘अर्गलास्तोत्रम्’ का पाठ करे, तो उसका शीघ्र विवाह होता है |
  • बुधवार के दिन पीतल से बनी गणपतिजी की छोटी प्रतिमा को गहरी थाली में पञ्चामृत से स्नान करावें, फिर पंचोपचार विधि से पूजन करें इसके बाद ॐ गं गणपतये नमः  मंत्र का 21  बार जाप करें, और फिर पञ्चामृत को पीपल के पेड़ में चढ़ा दें | ऐसा करने से शीघ्र विवाह होता है |
  • जब जातक का विवाह कुंडली के मांगलिक होने के कारण नहीं हो पा रहा है, तो  मंगलवार के दिन ‘चण्डिका स्तोत्र’ का पाठ व् शनिवार के दिन सुन्दर-काण्ड का पाठ करना चाहिए  | ऐसा करने से विवाह में आने वाली बाधाएं कम होगी |
  • वृहस्पतिवार के दिन आटे को पिण्ड की तरह बनाकर  उसमे थोड़ी सी हल्दी लगाकर और थोडा गुड़ और चने की दाल गाय को खिलावें | इससे शीघ्र विवाह होगा |
  • मंगलवार के दिन लक्ष्मी-नारायणजी की प्रतिमा को घर में स्थापित करें उसके बाद पंचोपचार विधि से पूजन के उपरान्त “ॐ सृष्टिकर्ता मम विवाह कुरु कुरु स्वाहा नामक इस मन्त्र का जाप २१ बार करेने से जातक का शीघ्र विवाह होता है |
  • सोमवार के दिन शिव जी के मंदिर में पाँच नारियल चढ़ाएं और “ॐ श्रीं वर प्रदाय श्री नमः नमक इस मन्त्र का पाँच बार माला फेरें | यह मन्त्र विशेष रूप से कन्याओं के लिए है |
  • अगर लड़का मांगलिक है तो उसे मंगलवार के दिन हनुमानजी को सिंदूर चढ़ाना चाहिए | ऐसा करने से शीघ्र विवाह के संयोग बनते हैं |
  • शीघ्र विवाह हेतु मांगलिक लड़की और लड़के को अपने कमरे के दरवाजे को लाल/गुलाबी रंग से रंगना चाहिये |
  • यदि जातक की कुण्डली में सूर्य दोष के कारण विवाह में व्यवधान आ रहा हो तो, रिश्ते की बात करने जाते समय गुड़ खाकर पानी पीलें | कन्या/वर की माता को गुड़ नहीं खाना चाहिए | तथा नित्य सूर्योदय के समय ‘सूर्यदेव’ को अर्घ्य प्रदान करें और ‘ॐ सूर्याय नमः’ इस मन्त्र का उच्चारण करने से बाधा दूर होती है |
  • यदि जातक की कुण्डली में शनि दोष के कारण विवाह में विलम्ब हो रहा हो तो शनिवार के दिन ‘शिव जी’ को काला तिल अर्पित करने से समस्या का समाधान शीघ्र हो जायेगा |
  • मांगलिक दोष के कारण यदि विवाह में विलम्ब हो तो “वैदिक मंगल दोष शांति” कराएँ.

Puja of this Month
New Arrivals
Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web