" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
Pt Deepak Dubey

shiv

रुद्राभिषेक महूर्त /Rudrabhishek Mahurt 

शिववास तिथि एवं फल/Shiv Vaas Tithi Evam Fal

शिववास मुहूर्त के अनुसार यह तिथियाँ लिखी  गयी  हैं .. मासिक शिवरात्रि शुक्ल पक्ष त्रयोदशी को भी होता है जिसे प्रदोष व्रत कहते हैं और उसमे रुद्राभिषेक का विधान है ऐसा हमारे पंचांग कहते हैं  .. वैसे त्रयोदशी तिथि भगवान् शिव को ही समर्पित है परन्तु कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को मैं रुद्राभिषेक की सलाह नहीं देता .. महाशिवरात्रि शिव जी के विशेष दिन के कारण क्षम्य है साथ ही श्रावण मास में तिथि या मुहूर्त देखने की आवश्यकता नहीं होती अतः पूरे श्रावण पर्यंत रुद्राभिषेक कर सकते हैं

– पं. दीपक दूबे

शुक्ल पक्ष 

 कृष्ण पक्ष 

 तिथि   शिववास   फल   तिथि   शिववास    फल 
प्रथमा  शमशान  मृत्युतुल्य प्रथमा  गौरी सानिध्य  सुखप्रद
 द्वितीया  गौरी सानिध्य  सुखप्रद  द्वितीया  सभायां   संताप
 तृतीया  सभायां  संताप तृतीया  क्रीडायां  कष्ट एवं दुःख
 चतुर्थी  क्रीडायां  कष्ट एवं दुःख चतुर्थी  कैलाश पर   सुखप्रद
 पंचमी  कैलाश पर  सुखप्रद पंचमी   वृषारूढ  अभीष्टसिद्धि
 षष्ठी  वृषारूढ  अभीष्टसिद्धि षष्ठी  भोजन  पीड़ा
 सप्तमी  भोजन  पीड़ा  सप्तमी  शमशान  मृत्युतुल्य
 अष्टमी  शमशान  मृत्युतुल्य  अष्टमी  गौरी सानिध्य  सुखप्रद
 नवमी  गौरी सानिध्य  सुखप्रद  नवमी  सभायां   संताप
 दशमी  सभायां  संताप  दशमी  क्रीडायां  कष्ट एवं दुःख
एकादशी  क्रीडायां  कष्ट एवं दुःख एकादशी  कैलाश पर   सुखप्रद
द्वादशी  कैलाश पर   सुखप्रद द्वादशी  वृषारूढ  अभीष्टसिद्धि
त्रयोदशी  वृषारूढ  अभीष्टसिद्धि त्रयोदशी  भोजन  पीड़ा
चतुर्दशी  भोजन  पीड़ा चतुर्दशी  शमशान  मृत्युतुल्य
पूर्णिमा  शमशान  मृत्युतुल्य  अमावस्या  गौरी सानिध्य  सुखप्रद


Puja of this Month
New Arrivals
Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web