" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
Pt Deepak Dubey

Mercury In Aquarius 2017/ Mercury Transit 2017/बुध का राशि परिवर्तन 2017/ बुध का कुम्भ राशि में गोचर 2017

Mercury Transit In Aquarius/ Mercury Transit In Kumbh Rashi 2017, बुध का राशि परिवर्तन 2017/ बुध का कुम्भ  राशि में गोचर 2017

22 फ़रवरी (बुधवार) , 2017

समय: 18:53

बुध राशि परिवर्तन का आपकी राशि पर प्रभाव 

यह राशिफल  सूर्य या चन्द्र राशि पर आधारित न होकर लग्न पर आधारित है तथा बहुत ही सामान्य आधार पर है अतः किसी विशेष परिस्थिति में अपनी कुंडली की जाँच कराकर ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचे . अच्छे या बुरे परिणाम आपकी वर्तमान दशा- अंतर दशा पर निर्भर करते हैं.

मेष : भाई बहनों का ख्याल रखेंगे, भौतिक सुख सुविधायों की प्राप्ति, आमदनी के एक से अधिक स्रोत बनेंगे, शिक्षा में सफलता तथा संतान सुख की प्राप्ति.

यदि बुध की दशा अन्तर्दशा चल रही हो तो मिश्रित फल की प्राप्ति होगी.

वृष : उत्तम संयोग, कुल दीपक योग का सृजन होगा, माता पिता से संपत्ति की प्राप्ति, व्यापार व्यवसाय से आर्थिक लाभ व् सम्पन्नता. माता की सेवा का अवसर मिलेगा, शिक्षा में सफलता के योग.

यदि बुध की दशा अन्तर्दशा चल रही हो तो शुभ फलों की प्राप्ति.

बुध शांति के उपाय 

मिथुन : अति शुभ फल दायक एवं योगकारक समय. भाग्य का साथ रहेगा, आर्थिक स्तिथि में सुधार , भाई बहनों का स्नेह मिलेगा, प्रसिद्धि बढ़ेगी, तेजस्विता और पराक्रम में वृद्धि , जन संपर्क ओर तेज होगा. मित्रों से लाभ, इस समय आपका कहा सत्य साबित होगा.

यदि बुध की दशा अन्तर्दशा चल रही हो तो भाग्योदय होगा.

कर्क : भाषा विनम्र एवं परिवार का पूर्ण सहयोग परन्तु भाईओं के लिए अशुभ समय, व्यय कम होगा एवं सुख की प्राप्ति के योग बनेंगे. धन प्रतिष्ठा में वृद्धि परन्तु स्वास्थ्य में गिरावट. अनैतिक कार्यों से दूर रहें.

यदि बुध की दशा अन्तर्दशा चल रही हो तो अपयश एवं समाज व् मित्रों में बदनामी का भय बनेगा.

वैदिक पूजा /अनुष्ठान कराने हेतु यहाँ क्लिक करें !

सिंह : कुलदीपक योग” का सृजन होगा, धन और यश की वृद्धि, पत्नी व् संतान से सुख प्राप्ति, अपने कार्यों द्वारा समाज में मान सम्मान, परिश्रम का पूरा पूरा लाभ मिलेगा, प्रेम विवाह के इच्छुक जातकों को सफलता के उत्तम योग.

यदि बुध की दशा अन्तर्दशा चल रही हो तो धन की प्राप्ति

कन्या : परिश्रम का फल देर से या नहीं मिलेगा, रोग का खतरा, शिक्षा के क्षेत्र में रुकावटें परन्तु ह्रदय और सोच सकारात्मक एवं निश्छल रहेगी. किसी का बुरा नहीं सोचेंगे.  कर्जों और रोग व्याधि में धन खर्च. शत्रु भी परेशान कर सकते हैं. शारीरिक श्रम से अधिक मानसिक सोच अधिक रहेगी . कलह के कारण वाणी कठोर होगी.

यदि बुध की दशा अन्तर्दशा चल रही हो तो मिश्रित फल की प्राप्ति

Book Your Telephonic Consultancy with Pt Deepak Dubey   

तुला : विद्या बुद्धि और धार्मिक कार्यों में सम्मान की प्राप्ति, शिक्षा के क्षेत्र में सफलता, संतान को भी शिक्षा क्षेत्र में लाभ, कंप्यूटर क्षेत्र में कार्यरत जातकों को लाभ, व्यापार व्यवसाय से धन प्राप्ति एवं उन्नति के उत्तम योग, धार्मिक कार्यों में धन खर्च,

यदि बुध की दशा अन्तर्दशा चल रही हो तो शैक्षणिक उपाधि, कीर्ति यश की प्राप्ति, व्यापार व्यवसाय में उन्नति .

वृश्चिकमाता पिता, ज़मीन जायदाद, भूमि भवन, वाहन सुख की प्राप्ति, अपने कार्यों द्वारा आप कुटुंब परिवार का नाम दीपक समान रोशन करेंगे. राजकीय अथवा व्यावसायिक क्षेत्र में सुख सम्मान व् सफलता की प्राप्ति तथा ईश्वर में आस्था और अधिक बढ़ेगी .

यदि बुध की दशा अन्तर्दशा चल रही हो तो भौतिक सुखों की प्राप्ति

2017 के शुभ योग ओर महूर्त जानने के लिए क्लिक करें.

धनु : बुद्धि , धैर्य. एवं विवेकशीलता बढ़ेगी, पिता का सुख उत्तम रहेगा, गृहस्थ जीवन सुखी रहेगा, धर्म में आस्था बनी रहेगी, परिश्रम एवं पराक्रम बढेगा, मेहनत का उत्तम फल मिलेगा . व्यापार में लाभ के योग बनेगे.

यदि बुध की दशा अन्तर्दशा चल रही हो तो उत्तम फल की प्राप्ति

मकरविवेक, धार्मिकता , एवं बौद्धिक चातुर्य में वृद्धि. वाणी में प्रखरता आएगी, कुशल वक्ता एवं विद्वान् के रूप में प्रसिद्धि परन्तु भाग्योदय कि चिंता से ग्रसित रहेंगे.  आर्थिक स्थिति मज़बूत रहेगी एवं सभी के प्रिय एवं चहेते बनेंगे. पुराने कर्जों ओर रोगों से छुटकारा . शत्रुओं से भय का अंत.

यदि बुध की दशा अन्तर्दशा चल रही हो तो भाग्योदय एवं मनवांछित धन की प्राप्ति

धन से सम्बंधित समस्या हो तो कराएं वैदिक महा लक्ष्मी अनुष्ठान 

कुम्भबुद्धि प्रखर, सकारत्मक एवं दार्शनिक सोच, स्वास्थ्य लाभ, अपने कार्यों द्वारा कुल परिवार का नाम रोशन करेंगे. यदि विवाह होने के संयोग हो तो सुंदर पत्नी की प्राप्ति.

यदि बुध की दशा अन्तर्दशा चल रही हो तो: शुभ फल की प्राप्ति.

मीनमाता के पूर्ण सुख से वंचित, मकान से सुख में भी रुकावटें, विवाह के इच्छुक जातकों के लिए विलम्ब के संकेत परन्तु विदेशों में ऊत्तम अवसर एवं सुख की प्राप्ति. गुप्त रोग या त्वचा सम्बन्धी रोग का खतरा, आलस में वृद्धि , परिश्रम कम ओर ख्याली पुलाव अधिक बनायेंगे. समाज से विरोध की संभावना.

यदि बुध की दशा अन्तर्दशा चल रही हो तो: मिश्रित फल की प्राप्ति

    

शुभम भवतु !

ज्योतिषविद पं. दीपक दूबे  <View Profile>

यदि आप किसी भी प्रकार की पूजा /अनुष्ठान वैदिक रीति से कराना चाहते हैं तो क्लिक करें  – वैदिक पूजा एवं  अनुष्ठान   


Puja of this Month
New Arrivals
Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web