" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "  - पं. दीपक दूबे
 
" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "  - पं. दीपक दूबे
 
Pt Deepak Dubey

Sun Transit in Aries 2016/ Sun exalted in Aries 2016/सूर्य मेष राशि में 2016 /सूर्य का मेष राशि में गोचर 2016

navgrah

आत्मा , राज्य , सामर्थ्य , आत्मबल, शक्ति, प्रसिद्धि तथा प्रशासन का कारक सूर्य अपनी उच्च राशि मेष में

13 अप्रैल , 2016 को सायं 7. 50 मिनट (दिल्ली) पर प्रवेश कर रहा है

 

  • सूर्य के अपने उच्च राशि में प्रवेश का आप पर होने वाला प्रभाव (लग्न के आधार पर)
  • सूर्य मेष राशि में रहने के दौरान अश्विनी नक्षत्र के सभी चरणों , भरणी के सभी चरणों और कृत्तिका के प्रथम चरण में भ्रमण करेगा

जिनके जन्म के समय सूर्य मेष राशि में हो तो क्या एक जैसे परिणाम मिलेंगे ? नहीं क्योंकि अशिविनी नक्षत्र का सूर्य परम प्रतापी और विलासी बनाएगा तो भरणी नक्षत्र में गया हुआ सूर्य तेजस्वी तो परन्तु जीवन संघर्षपूर्ण बनाएगा वहीँ कृत्तिका नक्षत्र का सूर्य सर्वाधिक शुभ फल देने वाला होगा और यही कारण है कि एक ही राशि में गया सूर्य भिन्न – भिन्न परिणाम देता है . इसी प्रकार नक्षत्र के अलग – अलग चरणों और अंशों में भी परिणाम अलग – अलग हो जाता है . इस संक्रांति का बहुत अधिक महत्व है , सिंहस्थ महाकुम्भ का प्रारंभ इस दिन से होगा और पहला स्नान भी इसी दिन होगा , इस दिन दान पुण्य का बहुती अधिक महत्व है चूँकि संक्रांति सायं काल है अतः मध्यान्ह बाद पुण्य काल प्रारंभ होगा

 meshमेष राशिफल – सूर्य आपके लग्न में उच्च का होगा अतः प्रभाव – प्रताप में वृद्धि होगी , सामाजिक उत्थान होगा , वैवाहिक जीवन में कुछ कठिनाई आएगी , सर दर्द परेशान कर सकता है साथ ही यदि पित्त की समस्या पहले से है तो वह और बढ़ सकती है .

 वैदिक पूजा /अनुष्ठान कराने हेतु यहाँ क्लिक करें !

Having a Problem? Ask a single Question in Just Rs.500/(US$9)- click here

taurusवृष राशिफल – द्व्दाश भाव में सूर्य के उच्च के होने से भौतिक सुखों में वृद्धि कराएगा और इस पर धन खर्च होगा , दूसरों के मामले में टांग अड़ाने से बचना चाहिए क्योंकि यह प्रवृत्ति इस समय बहुत बढ़ेगी . जब घर पर होंगे तो अधिक उत्तेजित होंगे और यदि शुक्र स्थिति अच्छी नहीं है तो सभी  पर डांट – डपट के साथ प्रभाव बनाने की कोशिश करेंगे , इससे पारिवारिक अशांति बढ़ने की पूरी संभवना बनेगी . इस समय निर्भीक रहेंगे और बड़े – बड़े फैसले लेने से भी नहीं चुकेंगे.

जाने नवरात्र से सम्बंधित देवी, ध्यान मंत्र, रंग और ग्रह शांति

geminiमिथुन राशिफल – एकादश भाव में उच्च का सूर्य आपको बहुत अधिक प्रभावशाली बनाएगा , साथ ही निर्णय शक्ति को भी मजबूत करेगा , यहाँ यह राजयोग कारी है समाज में खूब ख्याति मिलेगी , जो लोग स्थायी /सरकारी नौकरी के तलाश में थे उन्हें अब सफलता मिलेगी क्योंकि इस समय सूर्य बहुत सहयोगी है , मित्रों का भी खूब सहयोग मिलेगा और उनसे लाभ होगा , दूसरों की खूब मदद करेंगे इस समय .यदि सूर्य की दशा या अंतर दशा हो तो व्यापार करने वालों को खूब लाभ होगा . इस समय आपको अहंकार से बचना चाहिए

Book your Telephonic Consultancy with Pt Deepak Dubey Now!

Scorpioकर्क राशिफल – दसम भाव में सूर्य के उच्च राशि में आने से जबरदस्त राजयोग बनेगा . इस समय अपने पिता का भरपूर सहयोग लेने में सफल होंगे आप , राज्य – सत्ता से भी बहुत सहयोग मिलेगा , यदि पदोन्नति के बारे में सोच रहे थे तो उसके लिए अब सही समय है . मान – सम्मान में वृद्धि और शिक्षा – प्रतियोगिता में सफलता मिलेगी . इस समय कुछ लोगों को स्थायी संपत्ति का योग भी बनेगा . यदि बृहस्पति का अंतर हो तो स्वास्थ्य को लेकर सतर्क रहें यह मारक दशा की तरह काम करेगा .

जानिये “अक्षय तृतीया” का महत्व एवं पूजा महूर्त

Leoसिंह राशिफल – सिंह लग्न का स्वामी सूर्य है और यह अब नवम स्थान अर्थात भाग्य स्थान पर उच्च का हो रहा है , इससे अधिक सूर्य और सहयोगी नहीं हो सकता , प्रारंभ के 12 दिन और अंतिम 6 दिन बहुत ही लाभकारी होने वाले है , भाग्य का जबरदस्त सहयोग रहेगा , यदि कोई अत्यंत ही प्रतिकूल ग्रह की दशा ना हो तो बहुत लाभ मिलने वाला है इस समय आप कुछ बड़ी उपलब्धियां प्राप्त कर सकते है जैसे मकान , पदोन्नति , अच्छी नौकरी या पुरस्कार . इस समय सबकी देख भाल करेंगे , सबकी मदद करने को तत्पर रहेंगे , केवल विलासिता से दूर रहने का प्रयास करें .

वैदिक पूजा /अनुष्ठान कराने हेतु यहाँ क्लिक करें !

virgoकन्या राशिफल – द्वादशेश सूर्य अब अष्टम भाव में उच्च का होगा , यहाँ सूर्य बहुत योगकारी नहीं है हालाकि यह विपरीत राजयोग में होगा परन्तु यह बहुत सहयोगी नहीं है , यह व्यर्थ के धन खर्च कराएगा , शरीर में कोई ना कोई कष्ट देगा , दूसरों को अपनी क्षमता से बढ़कर सहयोग करने की प्रवृत्ति होगी जिसके कारण परेशानी में फंसने  का योग भी बनाएगा , आँखों से सम्बंधित कुछ समस्या उत्पन्न हो सकती है

पढ़िए, कौन सा व्रत करने से मिलता है राक्षस योनी से छुटकारा !

libraतुला राशिफल – आयेश सूर्य आपके सप्तम भाव में उच्च का होगा जिसके कारण जीवन साथी से बहुत सहयोग मिलेगा , हालाकि यदि जीवन साथी भी कड़े ग्रह के प्रभाव में है तो कुछ विवाद भी उत्पन्न हो सकता है , इस समय ससुराल पक्ष से भी लाभ या सहयोग मिलने की प्रबल सम्भावन रहेगी , मान – प्रतिष्ठा में  बहुत वृद्धि होगी . इस समय कामेच्छा बहुत प्रबल होगी सेक्स के प्रति खूब रुझान होगा . इस समय स्वार्थ की भावना भी प्रबल रहेगी .

 सिंहस्थ कुम्भ (उज्जैन) के बारे में  पढने के लिए क्लिक करें 

cancerवृश्चिक राशिफल – दशमेश सूर्य आपके छठे भाव में उच्च का होगा अतः इस समय वाद – विवाद बहुत अधिक हो सकता है, साथ ही अपने से उच्च अधिकारीयों के क्रोध का भाजन भी बनना पड़ सकता है . कार्य –व्यापार में बहुत अधिक प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ेगा , साथ ही यदि साक्षात्कार दे रहें हैं तो वहां भी कड़ी टक्कर मिलेगी अतः खूब तैयारी करके जायें क्योंकि कोई भी राह आसान नहीं रहने वाली. अपने बही – खतों को ठीक रखें अन्यथा कोई जुर्माना लग सकती है . शत्रुओं से सावधान रहें . अचानक किसी के बुलावे पर ना जायें .

वैदिक पूजा /अनुष्ठान कराने हेतु यहाँ क्लिक करें !

वैवाहिक जीवन में समस्या हो तो माँ कात्यायनी अनुष्ठान के लिए यहाँ क्लिक करें 

Sagiधनु राशिफल – भाग्येश सूर्य पंचम भाव में उच्च का हो रहा है अतः यह परम सौभाग्यशाली बनाएगा , विद्या – बुद्धि में खूब निखर आएगा . ज्ञान के बल पर भाग्य चमकेगी . संतान के कारण सुख प्राप्त होगा . यह सूर्य आपको हर क्षेत्र में सफलता देने में सक्षम है , पिता और उच्च अधिकारीयों का सहयोग प्राप्त होगा . यह समय नए प्रयोग के लिए भी सर्वोत्तम है .

वैदिक पूजा /अनुष्ठान कराने हेतु यहाँ क्लिक करें !

capriमकर राशिफल – चतुर्थ भाव में उच्च का सूर्य ह्रदय सम्बन्धी परेशानियों को बढ़ाने वाला होगा साथ ही यह माता के स्वास्थ्य को भी प्रभावित करेगा परन्तु कार्य क्षेत्र में बहुत सफलता देगा . पिता से कुछ वैचारिक मतभेद संभव है क्योंकि इस समय विचार नहीं मिलेंगे .  यह सूर्य आपको आध्यात्मिक बल देगा और नेक राह पर चलने की प्रेरणा देगा .

जानिए हनुमान जी की पूजा में सिन्दूर ओर तेल का महत्व !

Aquariusकुम्भ राशिफल – यह सूर्य आपके वैवाहिक जीवन के लिए ठीक नहीं है जीवन साथी के साथ अहं का टकराव होगा कोई झुकना पसंद नहीं करेगा बल्कि दूसरे से स्वयं को ऊपर समझेगा जिसके कारण विवाद की स्थिति उत्पन्न होती रहेगी . मित्रों का भरपूर सहयोग मिलेगा और कुछ अच्छे और प्रक्भाव्शाली लोगों से मित्रता बढ़ेगी . यात्रायें सार्थक होंगी परन्तु भाग्य पक्ष कमजोर रहेगी .

वैदिक पूजा /अनुष्ठान कराने हेतु यहाँ क्लिक करें !

Piscesमीन राशिफल – दूसरे भाव में उच्च का सूर्य अपने जीवन साथी के कारण किसी और से विवाद उत्पन्न कराएगा , परिवार में भी कुछ वाद – विवाद उत्पन्न होगा , आप का व्यवहार इस समय घर में प्रशासनिक हो सकता है तथा भाषा आदेशात्मक रहने की संभावना बनेगी विशेष कर प्रारंभ के दस दिनों तक . शुभ कार्यों से वंचित होंगे , आर्थिक स्थिति आपके धन से सम्बंधित ग्रहों की स्थिति और दशा पर निर्भर करेगी . वाक्पटुता और वाणी में निखर आएगा और तर्क शक्ति अद्भुत रहेगी .

                                   वर्ष 2016 का राशिफल जानने के लिए क्लिक करें

 यदि आप किसी भी प्रकार की पूजा /अनुष्ठान वैदिक रीति से कराना चाहते हैं तो क्लिक करें  –

वैदिक पूजा एवं  अनुष्ठान   

शुभम भवतु !

Pt-deepak-dubey-Profile-Pic

ज्योतिषविद पं. दीपक दूबे  <View Profile>

(Pt. Deepak Dubey)

09990911538


Puja of this Month
New Arrivals
Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web