" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
Pt Deepak Dubey

August Rashifal 2016/ August Horoscope 2016/ Rashifal August 2016/अगस्त माह का राशिफल 2016/ अगस्त राशिफल 2016

श्रावण माह 18 अगस्त, 2016 तक : “रुद्राभिषेक” कराने के लिए क्लिक करें 

इस माह गुरु सिंह से कन्या राशि में 11 अगस्त को प्रवेश करेगा , सूर्य संक्रांति 16 तारीख को है अर्थात सूर्य सिंह राशि में प्रवेश करेगा , 19 को बुध कन्या राशि में , शुक्र 1 को सिंह में तथा 25 को कन्या में प्रवेश करेगा तथा शनि 25 मार्च से जो वक्री चल रहा था वह अब 13 अगस्त को वृश्चिक में मार्गी हो जायेगा .

देखें अगस्त माह में पड़ने वाले व्रत एवं त्यौहार 

माह के प्रारंभ में ग्रहों की स्थिति : चंद्रमा मिथुन में : सूर्य और शुक्र कर्क में : बुध , गुरु और राहू सिंह में : मंगल और शनि वृश्चिक में तथा केतु कुम्भ राशि में है .

आइये देखते हैं क्या कह रहे हैं सितारे इस माह आप सभी के लिए , यह राशिफल लग्न पर आधारित है:

देखें वीडियो:

 

मेष : मेष राशि वालों के लिए अगस्त माह बहुत उतार – चढाव दे सकता है यदि किसी बेहद अनुकूल ग्रह की दशा ना हो तो , कई ग्रहों के राशि परिवर्तन के कारण माह का प्रथम और मध्य भाग जहाँ आर्थिक और सामजिक मामलों में सहयोगी होगा वहीँ माह के मध्य भाग के उपरांत बहुत प्रयासों के बाद ही सफलता संभावित होगी . कर्ज लेने की स्थिति उत्पन्न हो सकती है . भाग्य का  साथ नहीं मिलेगा अतः हर कार्य में बाधा उत्पन्न होगी . यात्रायें अधिक होंगी या व्यय निरर्थक होगा जिससे मानसिक तनाव बढ़ सकता है . शिक्षा – प्रतियोगिता के लिए भी मध्य भाग के बाद समय प्रतिकूल हो जायेगा क्योंकि सूर्य राहू की युति शुभ परिणाम नहीं देगी . गर्भवती महिलाओं को विशेष ध्यान रखना चाहिए विशेष कर 16 अगस्त के बाद . यदि गुरु की दशा हो तो बेहतर हो गुरु सम्बन्धी उपाय और वैदिक शांति पहले ही करा लें क्योंकि यह आने वाले एक वर्ष तक बहुत परेशान कर सकता है .

Click Here For Career & Finance related Pooja & Anushthaan 

वृष: वृषभ वालों के लिए अगस्त का महिना अलग – अलग विषयों से सम्बंधित अलग -अलग परिणाम देने वाला है जहाँ एक ओर यह वैवाहिक मामलों में तनाव बनाये रखेगा वहीँ नए प्रेम प्रसंग और कुछ लोगों के लिए विवाहेतर सम्बन्ध बनाने वाला होगा . आर्थिक मामलों में बेहतर रहेगा तो स्वास्थ्य के लिए यह बेहद हानिकारक हो सकता है विशेष कर दिल के मरीजों के लिए . शिक्षा – प्रतियोगिता में खूब सफलता दिलाएगा . माह के मध्य भाग के बाद भाग्य अत्यंत ही सहयोगी रहेगी अतः नए कार्य – व्यापार या निवेश के लिए समय उत्तम होगा परन्तु साझेदारी में नहीं . शिक्षा , खेल , भूमि – भवन, गैस , खनिज पदार्थ  या पेट्रोलियम से सम्बंधित कार्य करने वालों के लिए यह समय बहुत योगकारी रहेगा . इस समय शरीर में कहीं चोट लगने का योग भी बनेगा अतः सतर्क रहें . माता – पिता से वैचारिक या भौगोलिक दूरी बनने की प्रबल सम्भावना रहेगी . 

Book Your Telephonic Consultancy With Pt. Deepak Dubey Now!

मिथुन: बहुत अनिर्णय की स्थिति रहेगी विशेष कर अगस्त माह के लगभग 3 सप्ताह तक  पराक्रम आवश्यकता से अधिक रहेगा . तर्क भी आवश्यकता से अधिक रहेगा और किसी भी बात का अति विश्लेषण करने की प्रवृत्ति भी अधिक रहेगी. इस समय करीबी लोगों से वाद – विवाद संभावित है . कर्ज लेने से यथा संभव बचने का प्रयास करें अन्यथा चुकाना लगभग असंभव ही होगा हालाकि इस समय कर्ज बहुत आसानी से उपलब्ध हो जायेगा . माह का अंतिम सप्ताह अत्यंत ही उत्थान कारक होगा . इस समय किये हुए लगभग सभी प्रयास सफल होगें . विशेष कर पारिवारिक जीवन और सुख – सुविधाओं में बहुत वृद्धि होगी . 

श्रावण माह (20 जुलाई - 18 अगस्त, 2016) में "रुद्राभिषेक" कराने के लिए क्लिक करें 

कर्क: यह माह उत्साह और उर्जा को बढ़ाने वाला है . निर्णय क्षमता बहुत अच्छी रहेगी . मन प्रसन्न रहेगा और घर – परिवार में कोई शुभ समाचार की प्राप्ति भी होगी . शैक्षणिक उन्नति , प्रतियोगिता में सफलता , नौकरी में पदोन्नति और आर्थिक दृष्टि से किये हुए प्रयासों में सफलता के अच्छे संयोग बने रहेंगे . कार्य – व्यापार में नए अवसर तथा उन्नति के अवसर प्राप्त होंगे . लेखन , अभिनय , गीत – संगीत तथा किसी भी कलात्मक या सृजनात्मक कार्यों से जुड़े लोगों को खूब सफलता मिलेगी . प्रेम संबंधों तथा प्रेम विवाह के लिए भी यह माह उत्तम है . वैवाहिक जीवन में भी सम्बन्ध बेहतर होगा .. कुल मिलाकर यह माह उत्तम परिणाम देने वाला होगा यदि किसी अति प्रतिकूल ग्रह की दशा ना चल रही हो.

सपनों में छुपे संकेतों को जानने के लिए क्लिक करें 

सिंह:  अगस्त माह में मन में उत्साह , बुद्धि सार्थक दिशा में , क्रियात्मकता अद्भुत , मेहनत करने की भरपूर क्षमता बनी रहेगी फिर भी माह के मध्य तक सफलता मिलने में कुछ ना कुछ बाधा और परेशानी का योग रहेगा या कोई भी कार्य अंतिम पड़ाव पर नहीं पहुँच पायेगा . परन्तु माह के अंतिम मध्य भाग में सबकुछ एक साथ पक्ष में होगा और परिणाम भी आएगा . यथा योग्य आपको पदोन्नति , नए अवसर तथा मान – सम्मान सबकुछ प्राप्त होगा इसलिए भले ही परिणाम ना मिले फिर भी माह के प्रथम भाग में शिथिलता ना बरतने और अपने लक्ष्य की ओर निरंतरता बनाये रखें . स्थायी संपत्ति के लिए भी माह का अंतिम मध्य भाग अत्यंत ही सहयोगी रहने वाला है अतः यदि भू – संपत्ति खरीदना चाहते हैं तो जरुर ख़रीदे. स्वास्थ्य के लिए यह समय कुछ प्रतिकूल रह सकता है और शरीर में कहीं चोट लगने की सम्भावना बनेगी अतः शिव आराधना करते रहें.

Get Your Career Horoscope Report By Pt.Deepak Dubey Now!

कन्या : बहुत अधिक व्यय की सम्भावना बन रही है . इस समय हर कार्य में बाधा का योग बन रहा है . भाई – बहनों के कारण धन का व्यय होने की संभवना है . विरोधी इस समय परेशान कर सकते है माह के प्रथम 3 सप्ताह अत्यंत ही प्रतिकूल हैं . आर्थिक लेन – देन से बचें . यदि स्वास्थ्य पहले से ख़राब है तो इस समय ठीक होने में और लम्बा समय ले सकता है . बहुत उत्साह में कोई कार्य ना करें . शिक्षा – प्रतियोगिता में सफलता के लिए प्रयासों को और बढ़ा दें अन्यथा मानसिक अशांति प्राप्त होगी . विपरीत लिंग के जातकों के प्रति आवश्यकता से अधिक आशक्ति कुछ लोगों को मुसीबत में डालने वाली है अतः सावधान रहें . परिवार में किसी सदस्य के स्वास्थ्य की समस्या बहुत परेशान कर सकती है .. कुल मिलाकर यह माह शांत चित्त और धैर्य से आगे बढ़ने तथा भगवान् शिव की आराधना करने का है.

वर्ष 2016 में पड़ने वाले शुभ महूर्त जानने के लिए क्लिक करें.

तुला : अप्रत्याशित और खूब आय होने की सम्भावना बन रही है . बुद्धि क्षमता अत्यंत बेहतर रहेगी अतः कुछ अच्छे और उन्नति दायक निर्णय लेने में समर्थ होंगे .  गर्भवती महिलाओं के लिए यह समय अत्यंत ही प्रतिकूल है बेहद सावधानी बरतें . संतान को भी कुछ शारीरिक कष्ट संभावित है अतः उसके खेलने – कूदने या कहीं आने जाने पर विशेष ध्यान दें . वैवाहिक प्रस्तावों के लिए यह समय उपयुक्त नहीं है परन्तु यदि कोई कार्य – व्यापार या आर्थिक फैसले ले रहे हैं तो जीवन साथी का साथ और सहयोग बहुत लाभदायक रहने वाला है . अपने से बड़ों से वार्तालाप करते समय वाणी पर नियंत्रण रखें अन्यथा कुछ हानि संभावित है . तुला लग्न के वे जातक जिन्हें किसी भी प्रकार की मानसिक समस्या है वह इस समय बेहद सावधान रहें क्योंकि यह समय परेशानियों को बढ़ाने वाला है .

वैवाहिक समस्या हेतु “माँ कात्यायनी अनुष्ठान” करवाने के लिए क्लिक करें 

वृश्चिक : क्रोध पर नियंत्रण रखने का माह है क्योंकि इस समय इसकी बहुत अधिकता रहने वाली है . कार्य करने की क्षमता भी अद्भुत रहेगी . अपने प्रेम सम्बन्ध को यदि विवाह में परिवर्तित करना चाहते हैं तो यह समय अनुकूल है क्योंकि परिवार के लोगों का साथ मिलेगा , हालाकि वैवाहिक जीवन अभी भी तनाव ग्रस्त ही रहेगा . इस समय भूमि और लौह से सम्बंधित कार्यों में कुछ सफलता मिल सकती है परन्तु जन्म कुंडली में भी यदि शनि ठीक हो तो. संतान की इच्छा रखने वालों के लिए मध्य अगस्त के बाद का समय अत्यंत सौभाग्यशाली है . यदि नौकरी में कुछ परिवर्तन चाहते हैं तो अगस्त के मध्य भाग के बाद ही प्रयास करें पहले का प्रयास निरर्थक होगा . अपने से उच्च अधिकारीयों से आपको बहुत सतर्कता के साथ व्यवहार करना चाहिए क्योंकि उनसे अभी समर्थन मिलने के बजाय विरोध और हानि मिल सकती है .

Book Your Telephonic Consultancy With Pt. Deepak Dubey Now!

धनु: संतुलित समय चल रहा है आपके लिए परन्तु व्यय की अधिकता बनी रहेगी , हालाकि आय में निरंतरता के कारण कोई मानसिक दबाव नहीं होगा परन्तु फिर भी थोडा संभल कर चलने की सलाह दी जाती है . माह के मध्य भाग के बाद मान – प्रतिष्ठा , कार्य – व्यापार और आय में अच्छी वृद्धि के आसार हैं . इस समय संतान से दूरी , व्यय या किसी प्रकार की परेशानी का योग भी बन रहा है अतः थोडा ध्यान रखें . नए व्यापार करने के लिए भी यह समय अत्यंत ही उपयुक्त है साथ ही यदि आप नौकरी करते हैं तो पदोन्नति के बहुत अधिक आसार हैं यदि किसी बेहद ही प्रतिकूल ग्रह की दशा ना हो तो . अधिकांशतः ग्रहों के सहयोगी होने के बावजूद जुआ , सट्टा , लाटरी इत्यादि से दूरी बनाये रखें . इस समय पारिवारिक सुख में भी खूब वृद्धि होगी तथा घर – परिवार में सुख शांति रहेगी , बेहतर समय है लाभ उठायें .

अकाल मृत्यु से बचने का एकमात्र उपाय ” महा मृतुन्जय अनुष्ठान “

मकर: दो तरह की स्थितियां लेकर अगस्त माह आ रहा है आपके लिए . पहली स्थति बिलकुल ही विपरीत है और यह स्थिति माह के प्रथम अर्ध भाग में रहने वाली है , इस समय किसी भी प्रकार का आर्थिक जोखिम ना उठायें , किसी भी प्रकार का बड़ा निवेश ना करें , नौकरी में बिना सोचे समझे कोई निर्णय ना लें और यदि अति आवश्यक ना हो तो यात्रा से बचें , परन्तु जो दूसरी स्थिति इस माह उत्पन्न हो रही है वह अत्यंत ही अनुकूल है और यह प्रारंभ होगी अगस्त के अंतिम मध्य भाग में , इस समय आय के स्रोत एक से अधिक होंगे . खूब धन आने की संभावना बन रही है , नए कार्य – व्यापार के लिए यह समय अत्यंत ही उपयुक्त है . नौकरी में यदि परिवर्तन या उन्नति चाहते हैं तो यह समय पूरी तरह से आपके साथ है . आत्म विश्वास बहुत बढ़ा रहेगा , रियल स्टेट के क्षेत्र में कार्य करने वालों को अब सफलता मिलेगी . शिक्षा के मामले में कुछ प्रतिकूल समय अवश्य है अतः शिक्षार्थी थोडा अधिक प्रयास करें  .

Get Your 5 yrs Career & Finance Report By Pt.Deepak Dubey Now!

कुंभ: यह माह मध्यम परिणाम देने वाला है विशेष कर कार्य व्यापार में लगभग यथा – स्थिति बनी रहेगी . अचानक धन हानि का योग माह के मध्य भाग में बनेगा अतः आर्थिक मामलों में थोड़ी सतर्कता रखें . जीवन साथी के स्वास्थ्य की समस्या उत्पन्न हो सकती है विशेष कर माह के अंतिम मध्य भाग में साथ ही कुछ वैचारिक मतभेद भी उत्पन्न हो सकते हैं इसके बावजूद ससुराल पक्ष से सहयोग प्राप्त होगा . यात्रा के दौरान अपने सामान का ध्यान रखें . इस माह कोई धार्मिक यात्रा संभावित है . राजनैतिक क्षेत्र में कार्य करने वालों को कुछ विरोध का सामना करना पड़ सकता है हालाकि अंतिम विजय आपकी होगी परन्तु सामाजिक मामलों में थोडा संभल कर चलने की सलाह है . संतान और शिक्षा के मामले में यह समय कुछ बाधा उत्पन्न करने वाला होगा विशेष कर माह के प्रथम 3 सप्ताह तक अतः संतान का विशेष ध्यान रखें और शिक्षा में अधिक प्रयास करें

भयानक पितृ दोष और प्रेत बाधा निवारण हेतु कराएँ “माँ वन दुर्गा अनुष्ठान” 

मीन: यह माह के मध्य भाग तक सिर्फ भाग्य भरोसे ही काम बनेगे अन्यथा हर मामले में समय प्रतिकूल ही है . माह के प्रथम अर्ध भाग में स्वास्थ्य की समस्या उत्पन्न हो सकती है , किसी भी कार्य में सफल होने के लिए बहुत अधिक प्रयास करना पड़ेगा . शिक्षा में भी कुछ रुकावट या असमंजस की स्थिति उत्पन्न होगी . कार्य स्थल पर मन उद्विग्न रहेगा . परन्तु माह के मध्य भाग के बाद बहुत सी परिस्थितियां अनुकूल होंगी . आत्मबल में बहुत वृद्धि होगी साथ ही हर कार्य में मन लगेगा और सफलता भी मिलेगी . आय के नए साधन उत्पन्न होंगे . परिवार में कोई शुभ कार्य संपन्न होने की बहुत सम्भावना है . विवाह योग्य लोगों के लिए यह समय अत्यंत ही अनुकूल रहेगा . भौतिक सुख – सुविधाओं में बहुत वृद्धि होने वाली है . स्थायी संपत्ति खरीदने के लिए भी यह समय उपयुक्त है . धार्मिक कार्यों में रूचि बढ़ेगी और किसी की मदद करने में समर्थ होंगे .

Click Here For Career & Finance related Pooja & Anushthaan 

By : Pt Deepak Dubey


Puja of this Month
New Arrivals
Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web