" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे

Shani Sade Sati On Vrishchik/ Shani Sade Sati On Scorpio/Shani Sade Sati Effect On Scorpio/ वृश्चिक राशि पर शनि साढ़े साती/ शनि साढ़े  साती का वृश्चिक राशि पर प्रभाव 

Click Here For Rashifal 2018

राशिफल 2018 के लिए क्लिक करें 

vrishchika-150

वृश्चिक राशि वालों के शनि के साढ़े साती का अंतिम दौर प्रारंभ होगा यह अंतिम ढाई वर्ष भी एक समान परिणाम नहीं देगा क्योंकि इस दौरान शनि 3 अलग – अलग नक्षत्रों में भ्रमण करेगा . क्या होगा इस प्रभाव आइये देखते हैं .

विशेष :

  • शनि की स्थिति कुंडली में देखनी आवश्यक है क्योंकि उसी के अनुसार शुभ या अशुभ प्रभावों में वृद्धि या न्यूनता आयेगी .
  • यदि आपकी जन्म राशि और लग्न एक ही है तो प्रभावों में और वृद्धि होगी
  • नकारात्मक परिणामों को सुनकर भयभीत ना हों बल्कि उसका समय रहते उपचार करें और सावधानी बरतें .

अंतिम दौर का प्रथम भाग (लगभग 13 माह ): शनि के इस अंतिम दौर के प्रथम भाग में उन सभी चीजों का परिणाम मिलेगा जो पिछले पांच वर्षों से आपने किया यदि पिछले पांच वर्षों में आपने धैर्य नहीं खोया है और सत्मार्ग से विरत नहीं हुए तो यह समय विशेष कर इसका अंतिम भाग अत्यंत ही उत्थान परक होगा अन्यथा यह समय और कठोर दंड देने वाला होगा . इस दौरान शनि की दृष्टि आपके चतुर्थ भाव में , अष्टम में और एकादश भाव में होगी . परिवार में कोई मांगलिक कार्य सम्पादित हो सकता है . अनावश्यक गतिविधियों में धन का व्यय होगा जिसके कारण धन का संचय कठिन होगा . आय के मामले में पुनः यह एक कठिन समय होगा .

अंतिम दौर का मध्य भाग (लगभग 13 माह ): कुछ लोगों का रुझान गहन आध्यात्म, दर्शन , भक्ति इत्यादि की ओर होगा. शनि साढ़े साती के अंतिम दौर के दूसरे भाग अर्थात मध्य भाग में भौतिक सुख – सुविधाओं में वृद्धि होगी . स्थायी संपत्ति – वाहन इत्यादि खरीदने का प्रबल योग बनेगा . कुछ लोगों के लिए यह समय माता – पिता से दूर हो जाने का भी होगा , आपसी विचार नहीं मिलेगें . इस समय मित्रों की संख्या खूब हो सकती है परन्तु दुर्व्यसन और गलत संगत में भी पड़ने की संभावना रहेगी .

वृश्चिक राशि वालों के लिए शनि साढ़े साती का अंतिम भाग का अंतिम दौर सामान्यतया सुख – सुविधाएँ , मान – सम्मान , तथा आर्थिक स्थिति को मजबूती प्रदान करने वाला होता है परन्तु यह तभी संभव है जब पूरे शनि के साधे साती के दौरान आपने संयम नहीं खोया है अन्यथा यह एक बार सबकुछ छुड़ा देने में समर्थ है और आपको पुनः स्तःपित होने में कुछ समय लग सकता है . एक बात तो तय है की यह शनि की साढ़े साती आपको देश – दुनिया और समाज के बारे में बहुत कुछ सिखा जाएगी और अधिकांश लोग विशेष कर जो अपने जीवन के मध्य दौर में हैं उन्हें जीना और उचित व्यवहार करना आ जायेगा .


Puja of this Month
New Arrivals
Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web