" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "  - पं. दीपक दूबे
 
" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "  - पं. दीपक दूबे
 
Pt Deepak Dubey

Singh Rashifal 2022 : सिंह राशिफल 2022

सिंह राशिफल 2022 सूर्य या चन्द्र राशि पर आधारित न होकर लग्न पर आधारित है. वर्ष 2022 का राशिफल सिंह लग्न के जातकों के स्वास्थ्य , व्यापार , भाग्य और वैवाहिक जीवन से सम्बंधित है.  राशिफल 2022 बहुत ही सामान्य आधार पर है अतः किसी विशेष परिस्थिति में अपनी कुंडली की जाँच कराकर ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचे . अच्छे या बुरे परिणाम आपकी वर्तमान दशा- अंतर दशा पर निर्भर करते हैं.

विशेष :

  • शनि ग्रह वर्ष के प्रारंभ में मकर राशि में रहेंगे फिर कुंभ में जायेंगे फिर इसी वर्ष पुनः मकर में आयेंगे फिर कुंभ में जायेंगे । तो शनि के आगे पीछे होने के कारण जो धनु और मीन राशि के लिए साढ़े साति का प्रभाव पूर्ण रूप से न होकर कम ज्यादा होता रहेगा।
  • इसी प्रकार ढैया का प्रभाव मिथुन और तुला राशिओं को रहेगा और साथ ही कर्क और वृश्चिक राशि को भी प्रभावित करेगी। 
  • राशिफल भले ही लग्न राशि से हो पर, साढ़े साति और ढैया हमेशा चंद्रमा की राशि से देखने का नियम है।
  • जन्म समय चंद्रमा जिस राशि में होता है वहाँ से शनि को देखा जाता हैं।
  • देवगुरू बृहस्पति वर्ष के प्रारंभ में कुंभ में और बाद में मीन राशि को प्रभावित करेंगे। बृहस्पति की दृष्टी भी तीन होती हैं पंचम, नवम, सप्तम इस प्रकार बृहस्पति इन राशिओं को भी प्रभावित करेंगे।
  • राहु- केतु का गोचर इस वर्ष के प्रारंभ में अप्रैल तक वृषभ और वृश्चिक में और उसके बाद मेष और तुला राशि वालों पर इसका प्रभाव रहेगा।
  • इस वर्ष के प्रारंभ में सभी राशिओं के लिए ‘कालसर्प योग‘ बन रहा है ।  सभी राशिओं के लिए यह अप्रैल तक प्रभावित रहेगा और इसके बाद धीरे- धीरे इसका प्रभाव कम होगा ।
  • 2022 में कुल चार ग्रहण होंगे दो सूर्य ग्रह दो चंद्र ग्रहण, चंद्र ग्रहण पूर्ण और सूर्य ग्रहण आंशिक होगा ।

करियर

अपने कार्य क्षेत्र में इस वर्ष नई चीजों के प्रति रुझान होगा । कार्य में थोड़ा बहुत परिवर्तन आप कर सकते है या उसके बारे में आप सोच सकते है । व्यापार कर रहे हो तो उसमें कुछ नया काम शुरु कर सकते हो, नौकरी कर रहे है तो उसमें कुछ अलग ही लाइन बदलने की इच्छा बन सकती है । दूसरे क्षेत्र में काम करने की इच्छा आपको वर्ष के प्रारंभ में अधिक हो सकती है । व्यापार में भी आप नई चीजों का इम्प्लेमेंट करेंगे, आय में भी अच्छी वृद्धि के संकेत दिखाई दे रहे है । शुरू में कार्य क्षेत्र में वैचारिक मतभेद या तनाव का अनुभव आप कर सकते है, लेकिन वहाँ आप ही प्रभावशाली होंगे, आपका दबदबा रहेगा । वर्ष के पहले हिस्से में स्थान परिवर्तन के योग बन रहे है या जो लोग विदेश जाने के लिए लालायित है उनके लिए विदेश यात्रा के योग और विदेश यात्रा से वृद्धि के योग बन रहे है । व्यापारिक अनुबंध के लिए अच्छे योग बन रहे है और व्यापार में भी लाभ दिखाई दे रहे है । करियर के क्षेत्र में स्थान परिवर्तन के योग दिखाई दे रहे है, जितना स्थान परिवर्तन से लाभ होगा होगा उतना लाभ एक जगह रहकर नहीं होगा । तो सुदूर या विदेश जाना चाहते हो तो यह वर्ष आपके लिए योगकारी सिद्ध होगा कुल मिलाकर देखा जाये तो लाभ की स्थिति बन रही है । स्थिरता में कोई कमी हो सकती है क्योकिं यहाँ वहाँ जाने से कुछ कठिनाई का अनुभव आप महसूस कर सकते हो, परन्तु अंतिम परिणाम आपको लाभांवित करने वाला होगा । यहाँ यह बात समझने की है कि मई के बाद भाग्य में बाधाओं का योग यानी रुकावटे उत्पन्न हो सकती है, भाग्य बाधक बन सकता है । काम में रुकावटों की अनुभूति हो सकती है, तो अगर आपको कोई महत्वपूर्ण काम है या कोई डॉक्यूमेंट पूर्ण करने से संबंधित कोशिश कर रहे तो उसको आप अप्रैल तक करे क्योकिं अप्रैल के बाद रुकावटें अधिक आयेगीं तथा काम तुरंत नहीं बनेगा उसमें कुछ बाधा रुकावटें या विलंब हो सकता है । स्थान परिवर्तन से लाभ, प्राप्तियाँ होंगी लेकिन रुकावटों के साथ होगा ।

 वैवाहिक जीवन और प्रेम सम्बन्ध

वर्ष के पहले क्‍वॉटर में प्रेम संबंधों का योग बन रहा है । विवाह की कुछ स्थिति बनेंगी लेकिन विवाह के लिए उसमें स्थायित्व नहीं है, चीजें आगे बढ़ेगी, लोग पसंद भी आयेंगे, प्रेम संबंध भी कुछ समय के लिए बन सकते है लेकिन लंबे समय के रिश्ते में परिवर्तित हो, इसमें  संदेह है । हालाँकि अप्रैल के बाद जो स्थिति बनेंगी उसमें विवाह इत्यादि होने की प्रबल संभावना है । आपके पसंद से भी विवाह हो सकता है या अर्रेंज मैरिज भी हो सकती है दोनों तरह के योग बनेंगे । अप्रैल के बाद रिश्तों में स्थिरता रहेगी उसके पहले नहीं रहेगी तो इसलिए आप अप्रैल के बाद ही कोई निर्णय ले तो वह काफी योगकारी और स्थिरता देने वाला है । वर्ष की बात करे तो उसमें काफी उठा पटक रहेगी क्योकिं शनि स्थिर नहीं है, शनि स्थिर नहीं होने के कारण और आपका सप्तमेश और छठे भाव का स्वामियों की स्थिरता नहीं होने के कारण रिश्तों में काफी उतार- चढ़ाव रहेंगे तो थोड़ा गोचर देखकर ही किसी बात का निर्णय ले कि कब ग्रह स्थिर है तभी विवाह के बंधन में बंधे ।

संतान प्राप्ति के इच्छुक लोगों के लिए इस वर्ष सकारात्मक योग बने है ।

शिक्षाक्षेत्र

शिक्षा के दृष्टिकोण से यह वर्ष आपके लिए काफी योगकारी है । शिक्षा प्रतियोगिता के क्षेत्र में अच्छी सफलता का योग है और कुछ बेहतर आप कर पायेंगे, उच्च शिक्षा प्राप्त करने के इच्छुक उनके लिए भी समय अनुकूल है । शिक्षा के कारण लाभ, शिक्षा के कारण उन्नति, शिक्षा के कारण बौधिक चेतना में सुख की अनुभूति होगी. कहीं ना कहीं बौधिकता के बल पर आप नकारात्मक चीजों पर  विजय भी प्राप्त कर सकते हैं । चाहे वातावरण कैसा भी हो पर आपकी बौधिक क्षमता अधिक रहेगी . वह कहीं ना कहीं आपको संभालेगी .

शिक्षा के क्षेत्र की दृष्टि से यह समय अच्छा रहेगा ।

स्वास्थ्य

स्वास्थ के दृष्टिकोण से समय बहुत अच्छा नही है और ना तो वर्ष का प्रारंभिक हिस्सा ना ही वर्ष का बाद का हिस्सा, उसमें नकारात्मकता रहेगी । शनि की दृष्टि सीधे आपके लग्न और चौथे भाव पर पड़ेगी तो अचानक से कोई समस्या आपको उत्पन्न हो सकती है . क्योकिं दोनों स्थानों पर शनि की शत्रु दृष्टि पड़ रही है, जिसके कारण हृदय रोग की समस्या, कहीं चोट चपेट लगने की समस्या, घटना दुर्घटना की प्रबल संभावना बनेगी । थोड़ा सा सावधान आपको अपने स्वास्थ को लेकर रहना है, शनि की दशा अंतर्दशा चल रही हो तो यह योग अधिक प्रभावशाली हो सकते है ।

अन्य

कुछ अन्य बातों के लिए तो ठीक ठाक है पर कहीं मानहानी का योग बन रहा है, कहीं आपके सम्मान को ठेस पोहच सकती है । अपमान की स्थिति उत्पन्न हो सकती है कहीं वाद-विवाद पहले से चला आ रहा है, या किसी कर्म के कारण या झटके से कोई बात हुई हो तो वहाँ कोर्ट- कचेरी के चक्कर में फसाने की नौबत आ सकती है ।।

शनि थोड़े प्रतिकूल है, राहु का गोचर अनुकूल नहीं है और शनि जब राहु के नक्षत्र शतभिषा में जायेंगे तो यह स्थिति मानसिक अशांति, समाज में भय उत्पन्न करने वाला, मान- सम्मान की हानि करने वाला और कोर्ट- कचेरी मुकदमे की समस्या उत्पन्न करने वाला दिखाई दे रही है । अगर आपके जीवन में ऐसा वातावरण उत्पन्न हो रहा हो तो आपको सावधान रहने की आवश्यकता है। क्योकिं शनि का गोचर ऐका एक अचानक से बहुत नकारात्मक स्थिति उत्पन्न करता है । यह नकारात्मकता परिवार में हो सकती है, या फिर पति- पत्नी में भी हो सकती है, या फिर कार्यस्थल पर भी होने की संभावना बन सकती है । विशेष करके फरवरी, अप्रैल, अगस्त, सितंबर, नोव्हेंबर के महीने में ऐसा हर वर्ष में हर दो-दो, तीन महीने में नकारात्मक योग बन रहे है ।

जमीन जायदाद खरीदने के लिए वर्ष का दूसरा हिस्सा अनुकूल है । इस समय आप बड़ी खरीदी कर सकते हो । कहीं सदुर बसने का योग बन सकता है ।

सावधानियां एवं उपचार

  • सूर्य की आराधना अवश्य करे ।
  • अगर आपको कहीं अपमान का भय हो रहा है तो सूर्य की आराधनाविशेष लाभकारी होगी । जिसमें ‘आदित्यहृदय स्रोत‘ का पाठ करे, ‘गायत्री मंत्र‘ का जप करे, गायत्री मंत्र की आराधना सूर्य के लिए विशेष की जाती है ।
  • अगर आपको कहीं फंसने के आसार लग रहे है तो आपको पहले से ही ‘गजेंद्रमोक्ष‘ का पाठ करना चाहिए ।
  • शनि से संबंधित दान शनि से संबंधित पूजा, शनि देव का तैलाभिषेक करना चाहिए ।
  • स्वास्थ समस्या या कोई और समस्या आ रही हो तो शनि मृत्युंजय मंत्र का अनुष्ठान , पूजा, जप करना बहुत लाभकारी होगा । खुद कर सकते हो तो अच्छा है नहीं तो किसी से करा भी सकते हो ।
  • आमावस्या के दिन शनि संबंधित दान और  भगवान शिव की पूजा या शनि देव से संबंधित पूजा यह दोनों भी लाभकारी आपके लिए होंगे ।
  • अपनी सोच को सकारात्मक और अच्छा रखे तो आपके लिए यह वर्ष बहुत बेहतर रहेगा ।

शुभम भवतु 

पं. दीपक दूबे (View Profile)

राशिफल 2022/मेष राशिफल 2022/ वृषभ राशिफल 2022/ मिथुन राशिफल 2022/ कर्क राशिफल 2022/ कन्या राशिफल 2022/ तुला  राशिफल 2022वृश्चिक राशिफल 2022/धनु राशिफल 2022/ मकर राशिफल 2022कुम्भ राशिफल 2022मीन राशिफल 2022


Puja of this Month
New Arrivals
Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web