" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
Pt Deepak Dubey

त्रिपुष्कर योग : इस योग में संपन्न हुआ कोई भी शुभ कार्य या शुभाशुभ घटना कालान्तर में त्रिगणित अथवा तिगुनी हो जाती है. इस योग में बहुमूल्य वस्तुओं ( आभूषण, भूमि आदि)  की खरीदारी शुभ मानी जाती है

shubh laabh

 त्रिपुष्कर योग 2015 / Tripushkar Yog  2015

 प्रारम्भ   समाप्त   प्रारम्भ   समाप्त 
11 जनवरी 23.55 12 जनवरी 1.41 7 जुलाई 17.09 7 जुलाई 17.45
24 फ़रवरी 17.49 25  फ़रवरी सूर्य उदय 12 जुलाई 8.23 12 जुलाई 13
1 मार्च 14.02 1 मार्च 23.54 22 अगस्त  सूर्य उदय 22 अगस्त  12. 24
7 मार्च  सूर्य उदय 7 मार्च 14.36 30 अगस्त 20.27 31 अगस्त सूर्य उदय
25 अप्रैल  सूर्य उदय 25 अप्रैल 13.39 24 अक्टूबर 10.05 25 अक्टूबर 4.08
5 मई 9.54 5 मई 11.5 2 नवंबर 4.5 2 नवंबर सूर्य उदय
10 मई 6.45 10 मई 11.56 7 नवंबर 13.47 8 नवंबर 5.03
23 जून 16.21 24 जून 3.16 22 दिसम्बर 16.3 22 दिसम्बर 22.5
28 जून 10.45 29 जून 4.02 26 दिसम्बर 15.24 27 दिसम्बर 11.19

 

द्विपुष्कर योग : इस योग में संपन्न हुआ कोई भी शुभ कार्य या शुभाशुभ घटना कालान्तर में द्विगणित अथवा दोगुना हो जाती है.

shubh laabh

 द्विपुष्कर योग2015 /Dwipushkar Yog  2015

 प्रारम्भ   समाप्त  प्रारम्भ   समाप्त
31 जनवरी सूर्य उदय 31 जनवरी 4.35 30 मई सूर्य उदय 30 मई 16.3
17 मार्च 20.15 18  मार्च 1.55 1 अगस्त 13.08 2 अगस्त 5.08
5 अप्रैल 19.35 6 अप्रैल 2.01 3 अक्टूबर 15.19 4 अक्टूबर 7.12
19 मई 21.03 20 मई सूर्य उदय

 

bells2015 के शुभ महूर्त /2015 of Shubh Mahurat/ शुभ महूर्त 2015bells 

शिव वास तिथि ज्ञान 2015  / Shiv Vaas Tithi Gyan 2015

रुद्राभिषेक महूर्त 2015 / रुद्राभिषेक महूर्त 2015 

सर्वार्धसिद्धि योग 2015 / Sarvaardhsidhi Yog 2015 

रवि योग 2015/Ravi yog 2015

सिद्धि योग 2015 /Sidhi Yog 2015


Puja of this Month
New Arrivals
Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web