" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
Pt Deepak Dubey

ग्रहों का लग्न पर प्रभाव 

लग्न को जन्म कुंडली के निर्माण का प्रारम्भ बिंदु माना गया है. लग्न कुंडली को हे जातक का शरीर माना गया है. लग्न को अंग्रेजी भाषा में ascendent कहा जाता है . आकाश में दिखने वाली बारह राशियाँ ही बारह लग्न हैं. जन्म कुंडली के प्रथम भाव या पहले घर को ही लग्न कहते हैं. दिन और रात मिलाकर60 घटी होती हैं इन 60 घटी में बारह लग्न तो एक लग्न लगभग ढाई घटी का माना जाता है.

lagn-kundali

लग्न कुंडली हे जन्म पत्रिका का आधार मानी गयी है. इसको बारह भागों में बांटा गया है जो इसके बारह भाव कहलाते हैं.  सभी भाव व्यक्ति के जीवन  से जुड़े विभिन्न पहलुओं  को दर्शाते हैं . आइये जाने लग्न पर विभिन्न ग्रहों का आपके जीवन पर क्या प्रभाव पड़ता है.

 


Puja of this Month
New Arrivals
Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web