" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे

Makar Rashifal 2017 : मकर राशिफल 2017 

Click Here For Capricorn Horoscope 2017 In English

मकर राशिफल 2016

Aries

 

मकर राशिफल 2017 सूर्य या चन्द्र राशि पर आधारित न होकर लग्न पर आधारित है. वर्ष 2017 का राशिफल मकर लग्न के जातकों के स्वास्थ्य , व्यापार , भाग्य और वैवाहिक जीवन से सम्बंधित है. मकर राशिफल 2017 बहुत ही सामान्य आधार पर है अतः किसी विशेष परिस्थिति में अपनी कुंडली की जाँच कराकर ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचे . अच्छे या बुरे परिणाम आपकी वर्तमान दशा- अंतर दशा पर निर्भर करते हैं.

 

वर्ष 2017 में ग्रहों की स्तिथि

  • बृहस्पति: बृहस्पति आपके भाग्य स्थान पर रहेंगे और सितम्बर माह के बाद आयेंगे आपके दशम भाव में.
  • शनि: जनवरी 2017 में शनि आपके एकादश भाव में रहेंगे परन्तु जनवरी के अंत में अपने गोचर के बाद शनि आ जायेंगे द्वादश भाव में.  26 जनवरी को शनि गोचर के प्रभाव जानने के लिए क्लिक करें 
  • राहु : राहु  लगभग आधे वर्ष तक रहेगा आपके अष्टम भाव में और उसके बाद आएगा प्रवेश करेगा आपके सप्तम भाव में
  • केतु : केतु लगभग आधे वर्ष तक रहेगा आपके दूसरे भाव में और उसके बाद आ जायेगा आपके लग्न स्थान पर.
  • यदि मकर लग्न के साथ साथ आपकी चन्द्र राशि भी मकर है तो ‘शनि साढ़े साती’ आप पर प्रारंभ हो जायेगी और आप उसके पहले दौर से गुजरेंगे. (शनि साढ़े साती का  प्रभाव जानने के लिए क्लिक करें )

 

स्वास्थ्य: वर्ष 2017 मकर लग्न के जातकों के स्वास्थ्य के लिए बहुत अनुकूल नहीं है क्योंकि वर्ष के प्रारंभ में राहु आपके अष्टम भाव में विद्यमान है. अष्टम गत राहु का प्रभाव स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता है. साथ ही  शनि ग्रह की दृष्टि आपके अष्टम भाव पर सीधी पड़ रही है, हालांकि शनि का यह प्रभाव जनवरी अंत तक ही  रहेगा. बृहस्पति जो शनि का शत्रु है ,  नीच दृष्टि आपकी राशि पर डालेगा . इन्ही कारणों से वर्ष पर्यंत आपका स्वास्थ्य बहुत अनुकूल नहीं रहेगा.

इस वर्ष पेट सम्बन्धी समस्या बहुत अधिक बढ़ेगी जैसे वायु विकार, लीवर सम्बन्धी समस्या, मोटापे से जुड़े रोग, जोड़ों में दर्द या थाईराइड की शिकायत हो सकती है. यदि आप पहले से ही इन रोगों से ग्रस्त हैं तो इन सभी  समस्याओं के बढ़ने के पूरे पूरे असार हैं और यदि नहीं हैं तो पहले से  सावधान हो जाएँ क्योंकि इनके होने का खतरा बढ़ जाएगा. यदि आप बृहस्पति या राहु की दशा या अन्तर्दशा से गुज़र रहे हैं तो भी समस्या के बढ़ने का खतरा बना रहेगा.

कार्य और व्यापार : आय के मामले में यह वर्ष बहुत अनुकूल नहीं है. यदि आपका कार्य स्थायी है या आप कार्य किसी एक स्थायी स्थान से कर रहे हैं तो आय में कुछ कमी आ सकती है. परिश्रम का परिणाम अधिक नहीं मिलेगा और व्यय अधिक होने की संभावना बनी रहेगी. आशा अनुरूप परिणाम पाने के लिए दिन रात मेहनत करनी पड़ेगी.  यदि आपका कार्य व्यापार  भ्रमण पर निर्भर करता है या आप किसी भी प्रकार से विदेश से जुड़े हैं या इन्टरनेट के माध्यम से आपकी आय है तो यह वर्ष आपके लिए बहुत अनुकूल है. इस वर्ष आप आशा से अधिक पैसा कमाएंगे.

वर्ष के पहले आधे भाग में अचानक धन हानि का योग बनेगा, इसलिए कोई भी धन सम्बन्धी निर्णय उत्तेजना में न लें. वित्तीय फैसले सोच समझ कर  किसी अनुभवी के परामर्श के बाद ही लें. इस वर्ष धन संग्रह करने में भी आपको बहुत अधिक कठिनाई का सामना करना पड़ेगा , यदि आपकी आय अधिक भी होती है तब भी आप बचत नहीं कर पायेंगे.

वर्ष के अंतिम छ माह साझेदारी व्यापार के लिए अधिक संवेदन शील है. इस दौरान आपको साझेदारी में धोखा मिल सकता है और परिणाम घातक हो सकते हैं. मकर लग्न के जातक यदि इस वर्ष साझे दारी में व्यापार आरम्भ करने की सोच रहें हैं तो कम से कम जून माह के बाद न करें और हो सके तो इस वर्ष के लिए टाल ही दें. यदि साझेदारी में कार्य कर भी रहें हैं तो आपनी आँखें खुली रखें और अपने साझेदार के साथ विचार मिला कर  चलें अन्यथा साझेदारी टूटने का खतरा रहेगा और आपको भारी धन हानि हो सकती है.

इस वर्ष शनि के प्रभाव के कारण आपको किसी न किसी प्रकार से परिवर्तन का सामना करना पड़ सकता है. फिर  चाहे यह परिवर्तन स्थान का हो या नौकरी का. नौकरी में स्थानान्तरण और व्यापर में कार्यों में परिवर्तन या कुछ नए कार्यों को जोड़ने का योग बन रहा है.

बौद्धिक पक्ष / शिक्षा शिक्षा के क्षेत्र में बहुत अधिक प्रयास और परिश्रम के बाद ही  सफलता के योग बन रहे हैं. शिक्षा के लिए यह वर्ष बाधक है अतः बहुत अधिक सफलता की अपेक्षा न करें. इस वर्ष अचानक मन में उत्तेजना का भाव आ सकता है इस पर आपको नियंत्रण रखना होगा. इस वर्ष अधिकतर समय आप अधीर रहेंगे. तनाव, उत्तेजना और अधीरता पर नियंत्रण रखेंगे तभी सफलता प्राप्त कर पाएंगे. अपने आपको तनाव मुक्त रखने का प्रयास करें और परिणाम की चिंता किये बिना कर्म पर केन्द्रित रहें.

वैवाहिक जीवन एवं समबन्ध: प्रेम संबंधों के लिए वर्ष 2017 उतार चढ़ाव भरा रहेगा. यदि आप प्रेम प्रसंग में हैं तो इस वर्ष संबंधों में तनाव , तकरार और प्रेम सभी भाव  रहेंगे. जून माह के बाद रिश्तों में और अधिक तनाव या टूटने तक की नौबत आ सकती है अतः सतर्क रहें और धैर्य से काम लें. वैवाहिक जीवन में भी कुछ इसी प्रकार की परिस्तिथियाँ आ सकती हैं. यदि पहले से ही आपके  संबंधों में कडवाहट आ चुकी है तो विवाह टूटने का खतरा बनेगा. यदि मकर लग्न के जातकों का सप्तम भाव भी दूषित है तो यह रिश्तों के टूटने की संभावनायों को और प्रबल करेगा. भाई बहनों से भी विवाद की स्तिथि उत्पन्न हो सकती है हालाँकि इसके कारण आप ही होंगे क्योंकि आपमें उत्तेजना बहुत अधिक बढ़ी हुई रहेगी. जून माह के उपरान्त आपको अपने जीवन साथी के स्वास्थ्य का बहुत अधिक ध्यान रखना पड़ेगा.

आवश्यक

संवेदनशील समय

  • जुलाई, अगस्त और  सितम्बर सम्मान, स्वास्थ्य ,परिवार एवं  धन के लिए संवेदनशील है.  विशेषकर 15 अगस्त- 15 सितम्बर.

उपाय 

 

शुभम भवतु 

पं. दीपक दूबे (View Profile)


Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web