" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- पं. दीपक दूबे
Pt Deepak Dubey

Kumbh Rashifal 2020 : कुम्भ राशिफल 2020

Aries

कुम्भ राशिफल 2020 सूर्य या चन्द्र राशि पर आधारित न होकर लग्न पर आधारित है. वर्ष 2020 का राशिफल कुम्भ लग्न के जातकों के स्वास्थ्य , व्यापार , भाग्य और वैवाहिक जीवन से सम्बंधित है.  राशिफल  2020 बहुत ही सामान्य आधार पर है अतः किसी विशेष परिस्थिति में अपनी कुंडली की जाँच कराकर ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचे . अच्छे या बुरे परिणाम आपकी वर्तमान दशा- अंतर दशा पर निर्भर करते हैं. 

विशेष :

  • इस वर्ष ‘वृहस्पति’ धनु राशि में हैं और नवम्बर महीने में के अन्तिम सप्ताह तक धनु राशि में ही बने रहेंगे | इस वर्ष के मध्य भाग 30 मार्च से जून तक मकर राशि में वक्री और मार्गी होंगे | ‘वृहस्पति’ का सबसे ज्यादा प्रभाव धनु राशि पर होगा |
  • ‘शनि’ 24 जनवरी को मकर राशि में प्रवेश करेंगे और पूरे वर्ष पर्यन्त मकर राशि में रहेंगे |
  • ‘राहू’ और ‘केतू’ सितम्बर महीने तक क्रमशः मिथुन राशि और धनु राशि में रहेंगे और सितम्बर के बाद वृषभ और वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे, और पूरे वर्ष पर्यन्त रहेंगे |
  • ‘मंगल’ इस पूरे  वर्ष पर्यन्त क्रमशः धनु , मकर, कुम्भ, मीन और मेष राशि में रहने वाले हैं |
  • इस वर्ष ‘शनि ढ़ैया’ जनवरी में वृषभ और कन्या राशि के लिये समाप्त होगी , परन्तु तुला और मिथुन राशि के लिये शनि ढ़ैया प्रारम्भ होगी | ‘शनि साढ़ेसाती’ से इस वर्ष वृश्चिक राशि पूरी तरह से मुक्त रहेगी | धनु  राशि के लिये ‘शनि साढ़ेसाती’ का अन्तिम वर्ष रहेगा | मकर राशि के लिये मध्य वर्ष रहेगा | और कुम्भ राशि के लिये ‘शनि साढ़ेसाती’ प्रारम्भ होगी |             

कॅरियर और फायनेंस की दृष्टि से इस वर्ष के प्रारम्भ मे परिश्रम का उचित परिणाम मिलेगा | आप लाभान्वित होंगे | आपके कार्यों की सराहना होगी | आप उन्नति करेंगे | धन की अच्छी बचत होगी | मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी | आपकी भावना विचलित नहीं होगी | इस वर्ष आप नया कार्य-व्यापार प्रारम्भ कर सकते हैं | इसमें आपको खूब लाभ मिलेगा | सुदूर के कार्यों से आपको लाभ मिलेगा | स्थान परिवर्तन से भी लाभ का योग बना हुआ है |

भाग्य भी आपका साथ देगा | भाग्य के बल पर किया गया कार्य आपको अच्छी सफलता देगा | इस वर्ष बहुत से लोग किसी नई जगह जा कर बस सकते हैं | इस वर्ष आप धन बचत नहीं कर पायेंगे | पुराना कर्ज से आपको मुक्ति मिलेगी | किसी को कर्ज देने में आपका धन खर्च होगा | यात्राओं में आपका धन खर्च हो सकता है |

प्रेम-सम्बन्धों तथा वैवाहिक जीवन की दृष्टि से यह वर्ष आपके प्रतिकूल है | रिश्तों को लेकर तनावपूर्ण स्थिति रहेगी | वाद-विवाद बढ़ेगा | रिश्तों के प्रति सही निर्णय नहीं कर पायेंगे | आपकी बुद्धि भ्रमित होगी | आपके अन्दर संदेहात्मक प्रवृत्ति बढ़ेगी | छोटी-छोटी बातों को लेकर आप अपने जीवन साथी से तर्क-कुतर्क करेंगे, जिसका आपके रिश्तों पर बुरा प्रभाव पड़ेगा |

जो लोग विवाह के योग्य हैं उनके विवाह की बात बनेगी | परन्तु रिश्ते उतने अच्छे नहीं रहेंगी | विपरीत लिंगी के प्रति आकर्षण रहेगा | बहुत से लोगों के नये सम्बन्ध जुड़ सकते हैं |

शिक्षा की दृष्टि से भी यह वर्ष ठीक नहीं है | पढ़ाई में भ्रम की स्थिति उत्पन्न होगी | नींद ठीक से नहीं आएगी | शिक्षा में रुकावट का योग बना हुआ है | कई लोगों की पढ़ाई बीच में ही छूट सकती है | जो लोग खोजबीन अथवा शोध के क्षेत्र से जुड़े हैं , उन्हें सफलता मिलेगी |

जो लोग नया कोर्स करनेवाले हैं या नया दाखिला लेने वाले हैं, उनके लिए भ्रम की स्थिति उत्पन्न होगी | क्रोध आप पर हावी रहेगा | इस वर्ष का तीन चौथाई हिस्सा शिक्षा के पक्ष में नहीं है |

स्वास्थ के मामले में यह वर्ष आपके अनुकूल नहीं रहने वाला है | मानसिक रूप से आप अनिंद्रा के शिकार रहेंगे | आप हमेशा तनावग्रस्त रहेंगे | किसी प्रकार का अंजाना भय आपको परेशान करेगा | आलस्यता बढ़ी रहेगी | संतान की दृष्टि से यह वर्ष बिल्कुल ठीक नहीं है | संतान से तनावग्रस्त रहेंगे | आपकी संतान गलत राह पर जा सकती है | गर्भवती महिलाओं को संतान की उत्पत्ति में समस्या उत्पन्न होने की संभावना है |

आपकी महत्वाकांक्षाएँ बढ़ी रहेंगी जो कही न कहीं अशंतुष्टि का कारण बनेंगी | यात्रा सुखद रहेगी | वाहन इत्यादि खरीदने के लिये यह वर्ष आपके अनुकूल है |

सावधानी –

  • आप अपने मानसिकता को साकारात्मक बनायें |
  • संतान के साथ अपने विचारों को मिलाकर चलें |
  • अत्यधिक विश्लेषण से बचें |
  • आपनी महत्वाकांक्षाओं पर नियंत्रण रखें |
  • गर्भवती महिलाओं के सेहत का विशेष ख़याल रखें |
  • अपने मन से अनजाने भय को निकाल दें |
  • आलस्य का त्याग करें |
  • अपने सेहत और खान-पान का विशेष ध्यान दें |
  • पानी अधिक पीयें, हरी चीजों का सेवन अत्यधिक करें |
  • मन में शुभाता शिक्षा में सफलता के लिए “गणेशजी” की नित्य पूजा करें |

राशिफल 2020मेष राशिफल 2020वृषभ राशिफल 2020मिथुन राशिफल 2020कर्क राशिफल 2020/ सिंह राशिफल 2020कन्या राशिफल 2020तुला  राशिफल 2020वृश्चिक राशिफल 2020/धनु राशिफल 2020/ मकर राशिफल 2020मीन राशिफल 2020

 

शुभम भवतु 

पं. दीपक दूबे (View Profile)


Puja of this Month
New Arrivals
Copyright © 2017 astrotips.in. All Rights Reserved.
Design & Developed by : v2Web