Aries

मिथुन राशि को काल पुरुष की कुंडली में तीसरा स्थान प्राप्त है और इसका स्वामी ग्रह है बुध. मिथुन बुध की स्वराशी है तथा बुध वाणी एवं बुद्धि का कारक माना गया है अतः मिथुन लग्न में जन्मे जातकों का बुद्धिमान एवं वाक्पटु होना स्वाभाविक माना गया है. ऐसे जातक अधिक बात करने वाले एवं लच्छेदार भाषण देने में पटु होते हैं. अपनी इन्ही विशेषताओं के कारण मिथुन लग्न के पुरुष  स्त्रियों के विशेष आकर्षण का केंद्र होते  हैं. सेक्स के प्रति विशेष रुझान के कारण आप स्त्रियों को संतुष्ट करने में सक्षम होते हैं . दुसरे के हाव भाव को ताड़ने में आपकी विशेष रूचि होती है..और पढ़ें 

 

 

आज का राशिफल-मिथुन राशि / Today’s Rashifal-Mithun

21st April , 2017

Click Here For Horoscope 2017 /राशिफल 2017 के लिए क्लिक करें

देखें अप्रैल 2017 में पड़ने वाले व्रत एवं त्यौहार    

आज के दिन आपकी भाग दौड़ रहेगी | रचनात्मक कार्यो में सफलता रहेगी | जीविका के क्षेत्र में प्रगति होगी | निजी सम्बन्ध प्रगाड़ होंगे | अपने पार्टनर के साथ कई महत्वपूर्ण बातो को साझा करेगें |

साप्ताहिक राशिफल मिथुन राशि / Mithun Weekly Horoscope

17 April, 2017 -23 April, 2017

  •  यह राशिफल लग्न पर आधारित है | कोई भी निष्कर्ष से पहले जन्मकुंडली की जांच अवश्य करवाये.

Click Here For Horoscope 2017 /राशिफल 2017 के लिए क्लिक करें

देखें अप्रैल 2017 में पड़ने वाले व्रत एवं त्यौहार    

इस सप्ताह आपको सफलता मिलने के योग बन रहे हैं. कार्यक्षेत्र में उन्नति परन्तु  करीबियों से विवाद होने की संभावना है.  सोच में नकारात्मकता और हानि देने की प्रवृत्ति प्रबल होगी.

अप्रैल राशिफल -2017 (मिथुन राशि) /April Rashifal-2017 :Mithun Rashifal

Click Here For Horoscope 2017 /राशिफल 2017 के लिए क्लिक करें

देखें अप्रैल 2017 में पड़ने वाले व्रत एवं त्यौहार      

आय में अभूतपूर्व वृद्धि होने के संकेत हैं , पदोन्नति की भी प्रबल संभावना है , परीक्षा – प्रतियोगिता में सफलता के लिए बहुत अच्छा समय है , स्थायी संपत्ति का भी योग बन रहा है जन संपर्क  तेज होगा और बाहरी लोगों का खूब सहयोग मिलेगा , केतु – शनि की दशा अंतर होगी तो कार्यों में बहुत रुकावट आएगी.

वार्षिक राशिफल – 2017 :मिथुन राशि/ Yearly Horoscope Mithun -2017

Click Here For Gemini Horoscope 2017 In English

मिथुन राशिफल 2016

mithun-150

मिथुन राशिफल 2017 सूर्य या चन्द्र राशि पर आधारित न होकर लग्न पर आधारित है. वर्ष 2017 का राशिफल मिथुन लग्न के जातकों के स्वास्थ्य , व्यापार , भाग्य और वैवाहिक जीवन से सम्बंधित है. मिथुन राशिफल 2017 बहुत ही सामान्य आधार पर है अतः किसी विशेष परिस्थिति में अपनी कुंडली की जाँच कराकर ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचे . अच्छे या बुरे परिणाम आपकी वर्तमान दशा- अंतर दशा पर निर्भर करते हैं.

 वर्ष 2017 में ग्रहों की स्थिति

  • बृहस्पति: बृहस्पति वर्ष 2017 के आरम्भ में आपके चतुर्थ  भाव में हैं और वर्ष के आधे से अधिक समय तक यानी सितम्बर तक इसी भाव में बने रहेंगे.
  • शनि: शनि वर्ष 2017 के आरम्भ में आपके छठे  भाव में होगा, जनवरी माह की 26 जनवरी  को शनि राशि परिवर्तनकर आपके सप्तम भाव  में चला जायेगा.(शनि गोचर का प्रभाव जानने के लिए क्लिक करें )
  • राहु : वर्ष 2017 के आरम्भ से लेकर मध्य तक राहु आपके तीसरे स्थान पर रहेगा तद्पश्चात प्रवेश करेगा दूसरे भाव में.
  • केतु : केतु आपके भाग्य स्थान पर रहेगा अर्थात नवम भाव में है , बना रहेगा वर्ष 2017 के मध्य तक तद्पश्चात केतु प्रवेश करेगा अष्टम  भाव में.
  • वर्ष 2017 के प्रारंभ में शुक्र, मंगल और केतु की युति बनेगी नवम भाव में
  • सूर्य और बुध की युति सप्तम  भाव में

देखें वीडियो :

स्वास्थ: स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से वर्ष 2017 आपके लिए काफी बेहतर रहेगा. जून, जलाई  माह तक  सवास्थ्य सम्बन्धी  कोई समस्या आपको परेशान नहीं करेगी. यदि छोटी समस्याओं जैसे मौसमी बदलाव के कारण होने वाली समस्या या गैस और एसिडिटी को छोड़ दिया जाये तो कोई बहुत बड़े रोग होने की संभावना ग्रह  नहीं दे रहे हैं. परन्तु यह स्तिथि वर्ष के आधे भाग के उपरान्त बदलेगी और वर्ष के दूसरे भाग में आपको सतर्क रहने की आवश्यकता पड़ेगी, विशेषकर वाहन चलते हुए. ग्रह स्तिथियाँ कुछ अचानक घटना  -दुर्घटना या चोट के संकेत दे रहे हैं . अतः रात्रि को वाहन न चलायें और यदि आवश्यक हो तो किसी को साथ अवश्य ले.  आवेश में आकर या अचानक कहीं से बुलावा आने पर न जाएँ. थोडा ठहर कर  सोच विचार कर ही घर से निकलें. ऐसे समय में मानसिक संतुलन और शांति बनाये रखना आवश्यक होगा.

वर्ष के दूसरे भाग में रीढ़ की हड्डी या नर्वस सिस्टम से सम्बंधित कोई विकार हो सकता है. केतु का अष्टम पर प्रभाव के कारण अचानक समस्या  आ सकती है अतः अपने स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रहें.

भाग्य : जून माह तक का समय बहुत अनुकूल है. विकास और उन्नति की संभावनाएं वर्ष के पहले आधे भाग में अधिक हैं. स्थाई संपत्ति के योग भी इसी समय बनेगे परन्तु ग्रह भी आपका तभी साथ देंगे यदि आप इमानदारी के साथ चलेंगे. यदि कोई भी कार्य आपने प्रलोभन वश किया तो धन के साथ साथ मान हानि का भी खतरा बनेगा. अपनी कथनी और करनी पर नियंत्रण रखें और जितना हो सके ईमानदारी से ही कार्यों को पूरा करें. अनैतिक कार्यों और अनैतिक संबंधों से दूर रहें . 

कार्य और व्यापार :  भाग्य और कार्य व्यापार के कई मामलों में वर्ष 2017 आपका है. कार्यों में सफलता और उन्नत्ति की संभावनाएं अधिक दिखाई दे रही हैं. यदि कोई स्थाई संपत्ति खरीदना चाहते हैं तो बेहिचक आगे बढ़ें. निवेश में भी घाटा  नहीं होगा , विशेषकर जून माह तक का समय आपके लिए अनुकूल है.  यदि आप साझेदारी में भी कार्य कर रहे हैं तो सफलता आपको अवश्य मिलेगी. यदि आप नौकरीपेशा भी हैं तो पदोंनात्ति  के अच्छे योग हैं. जून माह तक भाग्य का साथ बना रहेगा अतः सफलता और विकास के योग प्रबल हैं. 

वर्ष के दूसरे भाग में स्तिथियाँ थोड़ी बदलेंगी . तनाव और क्रोध आप पर हावी रहेगा. वाणी में कटुता आएगी. यह स्तिथियाँ सीधे सीधे आपके कार्य व्यापार पर प्रभाव डालेगी. कार्यों में शीघ्रता और व्यग्रता आपको धन हानि भी करा सकती है. इस समय आपको धन व्यय पर भी नियंत्रण रखना होगा. केतु के प्रभाव के कारण आपको हो सकता ही कहीं न कहीं से अकस्मात धन लाभ हो जाये परन्तु धन संग्रह नहीं होगा अपितु व्यय अधिक होने की संभावना है. अपने जीवन साथी या प्रेमी के साथ साझेदारी में किया गया कार्य आपको सफलता अवश्य दिलाएगा. इस समय अपने कार्यों को लेकर आप अपने जीवन साथी या प्रेमी का परामर्श ले सकते हैं , आप के लिए लाभदायक रहेगा.

शिक्षा: शिक्षा के क्षेत्र में  वर्ष के प्रारंभ के 6 माह सामान्य परिणाम लिए हुए हैं परन्तु वर्ष के अंतिम 6 माह में परिणाम बहुत फलदायक और शुभदायी होंगे. इस समय आपको आशानुरूप परिणाम मिलेंगे और परिश्रम का फल अवश्य मिलेगा. हालाँकि आप बहुत संतुलित रहने वाले व्यक्ति हैं और किसी भी स्तिथि में अपने आपको संभाल लेते हैं . वैसे आप स्वभाव से बहुत धार्मिक नहीं हैं परन्तु इस वर्ष आपका रुझान धार्मिक कार्यों में रहेगा. सोच सकारात्मक रहेगी. ह्रदय में दूसरों के प्रति दया और प्रेम की भावना रहेगी. 

विवाह और सम्बन्ध: विवाह योग्य मिथुन लग्न के जातकों लोगों के लिए भी वर्ष का अंतिम भाग अत्यंत ही शुभ है.  यदि आप विवाह योग्य हैं तो विवाह की संभावनाएं वर्ष के दूसरे भाग में अधिक होंगी विशेषकर प्रेम विवाह के लिए. प्रेम प्रसंग के लिए भी यह समय अनुकूल है. सम्बन्ध और अधिक प्रगाढ़ होंगे और आप अपने संबंधों को लम्बे समय तक चलाने  के लिए विवाह बंधन में बंधने से भी नहीं कतरायेंगे. प्रेम विवाह के लिए वर्ष 2017 आपके पक्ष में रहेगा. प्रेम विवाह के मार्ग में आने वाले सभी अडचने समाप्त होंगी विशेषकर वर्ष के अंतिम भाग में. अपने जीवन साथी या प्रेमी के साथ साझेदारी में किया गया कार्य आपको सफलता अवश्य दिलाएगा. इस समय अपने कार्यों को लेकर आप अपने जीवन साथी या प्रेमी का परामर्श ले सकते हैं , आप के लिए लाभदायक रहेगा.

संवेदनशील समय

  • जनवरी माह आपके लिए संवेदनशील है.
  • जून से अक्टूबर माह दुर्घटना या स्वास्थ्य के लिए संवेदनशील है.

सावधानी

  • नेक नीयत के साथ ही कोई कार्य करें
  • अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को प्रसन्न रखें और साथ ही उनसे सावधान भी रहें, धोखा मिलने की संभावना है

उपचार

  • यदि मारकेश की दशा चल रही है या कुंडली में लग्नेश दूषित है तो  भगवान् गणेश की आराधना करें
  • राहु से सम्बंधित दान करें
  • केतु  से सम्बंधित दान करें
  • अति विषम परिस्तिथियों में “राहु की वैदिक शांति और  “केतु की वैदिक शांति” अवश्य करायें .

 

शुभम भवतु 

पं. दीपक दूबे (View Profile)